Corona Death
PTI Photo

    अमरावती. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर काबू पाने के लिए देश में लाकडाउन लगाया गया. इस लाकडाउन के दौरान भी महावितरण की सेवा बदस्तूर जारी रही. विगत वर्ष भर की कालावधि में जिले में महावितरण के 473 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हुए. जिसमें से अब तक 18 कर्मचारियों की मृत्यु हो गई. कोरोना से जान गवाने वाले महावितरण कर्मियों के परिवारों को 30 लाख रुपये का सानुग्रह अनुदान और 20 लाख रुपये का बीमे का लाभ दिया जा रहा है. ऐसी जानकारी महावितरण द्वारा दी गई है. 

    35 कर्मियों का इलाज जारी 

    कोरोना काल में भी अमरावती परिक्षेत्र के महावितरण अधिकारी व कर्मचारी अविरत बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं. लेकिन कोरोना संकट के दौरान के कुछ कर्मचारियों की जान चली गई. इसलिए महावितरण ने संक्रमित कर्मियों को उपचार के लिए सवैतनिक अवकाश स्वीकृत किया. साथ ही वर्ग तीन और चार के सभी कर्मचारियों को एक बार में एक हजार रुपये विशेष मामले के रूप में सैनिटाइजर किट खरीदने के लिए दिए गए हैं.

    कोरोना संक्रमित होकर अस्पताल में भर्ती हुए कर्मचारियों को 50,000 रुपये और घर पर या संस्थागत आयसोलेशन में इलाज करा रहे कर्मचारियों को 25,000 रुपये अग्रिम वेतन प्रदान किया गया. कोरोना से मरने वाले कर्मचारियों के परिवार को 30 लाख रुपये का आश्रय अनुदान और 20 लाख रुपये का बीमा ऐसे कुल 50 लाख रुपये की मदद दी जा रही है. वर्तमान स्थिति में भी महावितरण के 30 से 35 संक्रमित कर्मचारियों का इलाज शुरू है.