Fear of increased risk from old dams in India, USA and other countries

    चांदूर बाजार: चांदूर बाजार तहसील के विष्नोली स्थित पूर्णा प्रकल्प के जल भंडार में गत 2 दिनों से लगातार बढ़ोतरी होने के चलते 2 गेट खोलने का निर्णय लिया है. उप विभागीय अधिकारी ने पूर्णा नदी के किनारे बसे गांव को सतर्कता की चेतावनी भी दी है. मध्य प्रदेश में हुई मूसलाधार बारिश के कारण पूर्णा प्रकल्प के जलस्तर में बढ़ोतरी होने से पूर्णा प्रकल्प के 2 गेट 5 सेमी से खोले गए. इन दरवाजों से पूर्णा नदी पात्र में 7 सेमी. से जलविसर्ग किया जा रहा है.

    60.64 प्रश.जलभंडार

    मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा पर है. मध्यप्रदेश में मूसलाधार बारिश से पूर्णा प्रकल्प के जल भंडार में बढ़ोतरी होती है. मध्य प्रदेश के बसंदेइ में 62 मीमी, सावलमेंढा में 35 मीमी, बाजपायी में 10 मीमी बारिश हुई. प्रकल्प में जिवित जलभंडारण 35.37 दलघमी. तथा जल स्तर 448.52 मी.है. फिलहाल पूर्णा प्रकल्प में 60.64 प्रश.जलभंडार है. इसलिए पूर्णा प्रकल्प का पानी सोमवार को सुबह 11 बजे से छोडा गया. 

    गांववासियों को सतर्कता की चेतावनी

    नदी पात्र में पूर्णा प्रकल्पा का पानी छोड़े जाने से नदी किनारे पर बसे गांव को सतर्कता की चेतावनी दी गई है. वर्ष 2014 में निर्माण हुई बाढ़ परिस्थिति दुबारा निर्माण ना हो इसीलिए अधिकारियों को भी पूर्णा प्रकल्प पर विशेष ध्यान देने के आदेश दिए है. सुबह 11 बजे से 2 गेट के माध्यम से पानी छोड़ा जा रहा है.- अजय ईरजकर, कनिष्ठ अभियंता.