फल क्षति के लिए 26.86 करोड़ की डिमांड

  • अतिवृष्टि-बाढ़ से संतरा, नींबू, मौसंबी चौपट

– त्रिदीप वानखड़े  

अमरावती. फसलों के साथ ही अतिवृष्टि व बाढ़ के कारण फसलों के साथ ही फलों का उत्पादन भी चौपट हो गया है. संभाग में कुल 21419 किसानों को आर्थिक नुकसान हुआ है. इनके 14795.67 हेक्टेयर क्षेत्र में संतरा, नींबू व मौसंबी का बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है. सर्वाधिक नुकसान सितंबर माह में वापसी की बारिश के दौरान दर्ज किया गया है. विभागीय राजस्व आयुक्तालय से राजस्व व वनविभाग के उपसचिव को भेजी गई रिपोर्ट के अनुसार फलों के नुकसान को लेकर कुल 26.86 करोड़ 58 हजार रुपये की डिमांड बतौर मुआवजा राज्य सरकार से की है. 

कपास, जवारी, मूंग, तुअर व उड़द का भी नुकसान

संभाग में सर्वाधिक 287882.29 हेक्टेयर क्षेत्र में सोयाबीन चौपट हुई है. इसके साथ ही 66308.22 हेक्टेयर क्षेत्र में कपास, 3181.75 हेक्टेयर क्षेत्र में जवारी को नुकसान दर्ज किया गया है. जबकि जून से अगस्त के दौरान अतिवृष्टि व बाढ़ से संभाग में कुल 7261.37 हेक्टेयर क्षेत्र में तुअर चौपट हो गई है. जिसमें बुलडाना जिला में सर्वाधिक 4541.39 हेक्टेयर क्षेत्र में तुअर हाथ से गई. दूसरे नंबर पर अमरावती जिला-1585.09 हेक्टेयर क्षेत्र, अकोला जिला-703.43 हे, यवतमाल जिला-431.46 हेक्टेयर क्षेत्र में तुअर चौपट हुई है. संभाग में 66105.77 हेक्टेयर क्षेत्र में मूंग का नुकसान हुआ है. जिसमें सर्वाधिक अकोला जिला में 30565.41 हेक्टेयर क्षेत्र में मूंग चौपट हो गई. बुलडाना जिला- 18930.82 हेक्टेयर, अमरावती जिला-15784.51 हेक्टेयर, वाशिम जिला-792.52 हेक्टेयर और यवतमाल जिला में 32.51 हेक्टेयर क्षेत्र में मूंग खराब हुई. उड़द का भी संभाग में भारी नुकसान हुआ है. अकोला जिला में सर्वादिक 13869.47 हेक्टेयर क्षेत्र में उड़द खराब हुई. अमरावती जिला-4772.68 हेक्टेयर, बुलडाना जिला-3488.51 हेक्टेयर और यवतमाल जिला में 28.60 हेक्टेयर क्षेत्र में उड़द चौपट हो गई. 

अमरावती जिला में मक्का, धान भी गया

सोयाबीन का सर्वाधिक नुकसान झेल रहे अमरावती जिला में 1808.74 हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का भी हाथ से गया. जबकि 3818 हेक्टेयर क्षेत्र में धान की खेती भी अतिवृष्टि व बाढ़ में चौपट हो गई. बुलडाना जिला में 327.54 हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का चौपट हो गया. इस तरह संभाग में कुल 2136.28 हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का और 3818.4 हेक्टेयर क्षेत्र में धान खराब हो गया. 

जून-सितंबर में जिला निहाय फसल क्षति हे. में (जिरायती क्षेत्र)

जिला  बाधित किसान सोयाबीन    कपास  जवारी     तुअर
अमरावती  345370               236301.50      33258.73      2626.80  1585.09
अकोला  72417               3434.32        2842.95      114.73          703.43
यवतमाल  18948                5435.22        5681.76      83.55  431.46
बुलडाना  143620                41287.30        24524.78      356.67  4541.39
वाशिम  5535        1423.95        0000      0000  0000 
कुल  585890                287882.29     66308.22      3181.75  7261.37

जून-सितंबर में जिला निहाय फल क्षति हेक्टेयर में 

जिला  बाधित किसान संतरा, नींबू, मौसंबी कुल बाधित क्षेत्र अनुमानित रु.लाख में
अमरावती  21221               14795.67           14795.67         2663.22
अकोला  15               6.46            8.03  1.45
यवतमाल  58               63           64          11.52
बुलडाना  118               18.23           50.68  9.12
वाशिम  00           7.10  1.27
कुल  21419           14883.36     14925.48  2686.58