file photo
file photo

तिवसा: तिवसा शहर में दिनदहाडे घर में घुसकर अजय दलाल नामक युवक की हत्या किये जाने के मामले में पुलिस ने 14 घंटों के भीतर 3 आरोपी अरेस्ट किए. तीनों आरोपियों को सोमवार को प्रात: 5.30 बजे चांदुर बाजार तहसील के माधान गांव से पकड़ा गया. अरेस्ट आरोपियों में अतुल रुपराव सिंघन (बेलोरा), नितिन बालु काले व प्रतीक बलभीम गोंडाणे (अमरावती) का समावेश है. आरोपियों से उनके वाहन भी जब्त कर लिये गए है. तीनों आरोपियों को 13 अगस्त तक रिमांड पर लिया गया है.  

3 आरोपियों की तलाश
संपूर्ण जिले को दहला कर रख देने वाले इस हत्याकांड में और 3 आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी है. मां और बहन की आंखों के सामने अजय दलाल पर चाकू से सपासप वार कर निर्मम हत्या किये जाने के मामले में पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपियों की तलाश आरंभ की. तीन आरोपी माधान गांव में एक मकान में छिपे थे. तिवसा पुलिस की टीम तलाशते हुए इस मकान  तक पहुंची. यहां से आरोपियों को अरेस्ट कर एक वाहन जब्त हुआ. लेकिन हत्या में उपयोग किया गया कोई भी हथियार पुलिस को नहीं मिला है. वहीं दूसरी ओर तिवसा में मृतक अजय पर अंतिम संस्कार किए गए. इस दौरान तगडा बंदोबस्त लगाया गया. इस हत्याकांड को लेकर शहर में तरह-तरह की चर्चा है. 

 आरीफ को बीच रास्ते में ही छोड़ा  
आरोपियों व्दारा अजय की हत्या के दौरान अपहरण किये गए आरीफ नामक युवक को आरोपियों ने हत्याकांड के बाद भागते समय अमरावती-नागपुर हाइवे पर छोड़ दिया. लेकिन छोड़ने से पहले उसकी बेदम पिटाई की. शनिवार-रविवार को संपूर्ण जिले में कर्फ्यू होने के बाद भी आरोपी तिवसा में चाकू-छुरे लेकर कैसे धमके. इसको लेकर तिवसा पुलिस की घिग्गी बंधी है. रेत तस्करी को लेकर हुए विवाद में यह मर्डर होने की चर्चा है.