संभाग में नवरात्रोत्सव कल से 6,498 दुर्गोत्सव मंडलों ने की तैयारी

  • कोरोना माहमारी का साया

अमरावती. 17 अक्टूबर को घटस्थापना के दिन नवदुर्गा देवी प्रतिमाओं की स्थापना होगी. कोरोना महामारी के कारण नवदुर्गोत्सव सादगीपूर्ण तरीके से मनाए जाने के निर्देशों के चलते गणेशोत्सव की तरह दुर्गोत्सव में भी सीमित मंडलों की ओर से मनाया जानेवाला है. इस वर्ष संभाग के पांच जिलों में 6498 सार्वजनिक दुर्गोत्सव मंडलों की स्थापना होने की संभावना जताई जा रही है. जिसमें सर्वाधिक 2,194 दुर्गोत्सव मंडल अकेले यवतमाल जिले में स्थापित होंगे, जबकि अमरावती जिले 1462, अकोला में 1404 मंडल, बुलढाना 956 तथा वाशिम जिले में सर्वाधिक कम 482 नवदुर्गोत्सव मंडल स्थापित होंगे. संभाग में 688 शारदा स्थापना होगी. यहां भी सर्वाधिक 264 शारदा मंडल यवतमाल जिले में स्थापित किये जाएंगे.

कड़ा रहेगा पुलिस बंदोबस्त
आयपीएस आयजी चंद्रकिशोर मीना के मार्गदर्शन में पांचों जिले के पुलिस अधीक्षक नवदुर्गोत्सव पुलिस बंदोबस्त के नियोजन में जुट गए हैं. हालाकि कोरोना के कारण दुर्गोत्सव भी सादगीपुर्ण तरीके से मनाने के निर्देश राज्य सरकार ने दिए है. जिसके चलते इस वर्ष सीमित दुर्गोत्सव मंडल की स्थापना होगी. जिससे पुलिस पर बंदोबस्त का ज्यादा तनाव नहीं रहेगा. संभाग में 9 हजार से अधिक पुलिस कर्मियों के साथ 7 एसआरपीएफ कंपनी, 3400 होमगार्ड समेत तगड़ा बंदोबस्त लगाने की योजना है.

जिला दुर्गोत्सव मंडल

यवतमाल                  2194

अमरावती           1462

अकोला          1404

बुलढाना                   956

वाशिम           482

कुल                 6498