Vaccination
Credit:@ani

    अमरावती. अमरावती जिले में अब तक करीब 7 लाख 14 हजार वैक्सीन के डोज दिए जा चुके है. इसलिए 73 हजार से अधिक वायल का उपयोग किया गया है. कुछ दिनों पहले शहर व ग्रामीण प्रशासन की ओर से यह आदेश दिए गए थे कि सभी टीकाकरण केंद्र अब तक वैक्सीन से खाली हुए वायल प्रशासन को उपलब्ध कराए. जिसके बाद अब तक कुल 71 हजार 462 खाली वायल कोल्ड चेन स्टोरेज में लौटाए गए है.

    खाली बोतल में ग्लूकोज भरने का डर 

    जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस बात की आशंका व्यक्त की गई थी कि वैक्सीन के खाली वायल में ग्लूकोज डालकर उसका उपयोग फर्जी वैक्सीन के तौर पर किया जा सकता है. राज्य तथा देश में कुछ स्थानों पर ऐसी घटनाएं सामने भी आ चुकी हैं. जिसे देखते हुए स्थानीय स्तर पर सतर्कता बरती जा रही है. अमरावती शहर में ऐसा न हो, इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रशासन की ओर से यह कदम उठाए जा रहे है.

    निजी अस्पतालों से वैक्सीनेशन  

    जल्द ही निजी अस्पतालों में टीकाकरण मुहिम शुरू होने वाली है. टीकाकरण का कार्य निजी हाथों में जाते ही धोखाधड़ी के मामलों की आशंकाओं को नकारा नहीं जा सकता. ऐसे में खाली वायल अगर असुरक्षित हाथों में जाते है तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते है. कोल्ड स्टोरेज में जमा किए गए कुल 71 हजार 462  खाली वायल में से 33 हजार वायल का उपयोग मनपा क्षेत्र में किया गया है. जबकि 38 हजार वायल ग्रामीण क्षेत्रों में किया गया है.