72 प्रतिशत सर्वे निपटा ,15 अक्टूबर तक पूर्ण होगा काम

अमरावती. केंद्र सरकार द्वारा प्रत्येक 7 वर्षों में की जानेवाली आर्थिक गणना का काम इस वर्ष जिले में अंतिम चरण में है. 15 फरवरी से शुरु आर्थिक गणना के इस काम में कोरोना लॉकडाउन ने बाधा डाली, लेकिन जैसे ही अनलॉक के तहत तालाबंदी शिथिल की गई, इकॉनॉमिक सेन्सस के काम ने गति पकडी. व्यावसायीक उपक्रम चला रहे 6.45 लाख परिवार (हाउसहोल्ड) के सर्वे के लक्ष्य की तुलना में 7 सितंबर तक 72 प्रतिशत याने 4.65 लाख हाऊसहोल्ड का काम पूर्ण हो चुका है. शेष सर्वे 15 अक्टूबर तक पूर्ण होने का विश्वास इस काम का जिम्मा संभाल रहे जिला प्रबंधक सचिन डोंगरे ने व्यक्त किया है.

 593 ग्रापं में निपटा सर्वे
डोंगरे के अनुसार जिले की 843 में से 593 ग्रामपंचायतों में सर्वे पूर्ण हो चूका है. शेष 250 ग्रापं समेत शहरी इलाके का काम चल रहा है. शहरी इलाकों में तहसील मुख्यालयों के साथ जिला मुख्यालय अमरावती शहर का समावेश है. जिले में धारणी, चिखलदरा, वरुड, दर्यापुर, अंजनगांव आदि तहसीलों का सर्वे लगभग निपट चुका है.

सीएससी के माध्यम से सर्वे
केंद्र सरकार के निर्देशों पर यह काम कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के माध्यम से किया जा रहा है. जिले में लगभग 1853 सीएससी है. जहां जमीनीस्तर पर होनेवाले सर्वे की जानकारी सूचिबध्द की जाती है. यह सर्वे की जिलाधीश कार्यालय के माध्यम से नीति आयोग को सौंपा जाता है.

500 सुपरवाइजर जुटे
इस सर्वे के लिए 500 सुपर वायजर नियुक्त किए है. जिनके अधिनस्त 3-4 सर्वेअर नियुक्त है. जो प्रत्यक्ष सर्वे कर जानकारी ऑनलाइन इकठ्ठा करते है. उनके द्वारा इकठ्ठा जानकारी यह सुपर वाइजर क्रॉस चेक करते है. जानकारी में त्रृटि पाए जाने पर पुन: जानकारी इकठ्ठा की जाती है.