Waiting for short distance trains, railway administration is not showing interest

बडनेरा: सांसद नवनीत राणा के प्रयासों से वर्ष 2016 के बाद पहली बार सेंट्रल वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन (सीडब्ल्यूसी) बडनेरा रेलवे मालधक्का पर गेहूं लेकर मालगाड़ी पहुंची. भारतीय खाद्य निगम से आयी इस रेक का सांसद नवनीत के हाथों पूजन किया गया. माथाडी कामगारों ने भी रेक का उत्साह से स्वागत किया तथा नवनीत का सत्कार किया. 

वर्ष 2016 से थी बंद 

बडनेरा रेलवे स्टेशन स्थित मालधक्का  दुर्गापूर रोड पर स्थानांतरित करने के बाद किसान व नागरिकों की दृष्टि से आवश्यक जीवनावश्यक अनाज, खाद आदि की आवाजाही अपेक्षित थी, लेकिन यहां वर्ष 2016 से रेक नहीं आ रही थी. यहां की बजाए यह रेक अकोला या धामणगांव में खाली होती थी. यह बात ध्यान में आते ही सांसद नवनीत को माथाड़ी कामगारों को लेकर दिल्ली पहुंची.

केंद्रीय खाद्य उपभोक्ता मंत्री रावसाहेब दानवे व तत्कालीन आपूर्ति मंत्री स्व. रामविलास पासवान की मुलाकात की. विधायक रवि राणा ने  मुंबई में तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व तत्कालीन आपूर्ति मंत्री गिरीष बापट के साथ बैठक की. इन्हीं प्रयासों की फलश्रृति के चलते यह रेक बडनेरा पहुंची है. बीते 4 वर्षों से यह रेक नहीं होने से केंद्र सरकार को लगभग 72 करोड़ का नुकसान हुआ है. 

विभिन्न सुविधा उपलब्ध होगी

रेक के पूजन के बाद नवनीत ने कहा कि मालधक्के के लिए 3 हाइ मास्ट लाइट, व्यापारी आराम कक्ष, माथाड़ी आराम कक्ष, मिटिंग हॉल आदि सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. इस समय स्टेशन प्रबंधक सिन्हा, सीएससीआय सयाम, सीजीएस कुंभारे, आरडब्ल्यूसी प्रबंधक रोहित शिवहरे समेत युवा स्वाभीमान जिलाध्यक्ष जीतू दुधाने, डीआरयुसीसी सदस्य आयुब खान, विलास वाडेकर, प्रवीण सावले, नितीन बोरेकर, अजय जयस्वाल सिद्धार्थ बनसोड,  डा. ग्रेसपुंजे, सोनू रुंगटा, सुधा तिवारी, गुप्ता फ्रंट करियर के विशाल गुप्ता, रेणुका वेअर हाऊस के रिंकू होरा, हरभजनसिंग, माथाड़ी कामगार संगठन के प्रवीण भुते, सागर आवटे, सागर यादव, रामा आजबे, प्रमोद खोब्रागडे, श्याम जगताप, अनिस भाई,  राकेश यादव, इम्रान खान, आदि उपस्थित थे.