File Photo
File Photo

    अमरावती. एमपी से देसी पिस्तौल तस्करी प्रकरण में क्राइम ब्रांच ने और 3 देसी पिस्तौल व 8 जिंदा कारतूस जब्त कर 2 आरोपियों को हिरासत में लिया है. आरोपी शेख समीर शेख अफसर (26, गौस नगर) तथा मोहम्मद अवेस मोहम्मद लतीफ (21, गौस नगर) है. क्राइम ब्रांच ने इस प्रकरण में अब तक 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर 5 देसी पिस्तौल व 23 जिंदा कारतूस बरामद किए है. अपराध शाखा की इस वर्ष की यह पहली बड़ी कार्रवाई है.

    सिटी में बढ़ी देसी पिस्तौल खरीदी-बिक्री 

    14 मार्च को अपराध शाखा ने फरीद नगर से सैय्यद वसीम सैय्यद नूर(30) को हिरासत में लिया था. जिससे एक देसी फर्जी पिस्तौल अटोमैटीक मैगजीन मेड इन आर्मी जैसी दिखाई देने वाली व 12 जिंदा कारतूस को जब्त किया था. आरोपी वसीम को पुलिस कस्टड़ी में लेने के बाद उसने मध्यप्रदेश से यह देसी पिस्तौल तस्करी की कबूली दी थी. सिर्फ 10 से 12 हजार रुपए में देसी पिस्तौल बेचने की जानकारी दी. 

    खरीददारों की सूचि

    देसी कट्टा खरीदी करने वाले लोगों की पुलिस के हाथ सूचि लगी. जिन्होंने यह देसी पिस्तौल खरीदे है, उनके नाम-पते भी जांच में सामने आये. जिसके तहत 16 मार्च को पैराडाइज कालोनी निवासी मो.आसिम उर्फ लड्डू मोहम्मद इद्रीस (30) को हिरासत में लेकर 1 देसी पिस्तौल व 3 जिंदा कारतूस जब्त किये.

    इसी सूचि के तहत अब गौस नगर के शेख समीर शेख अफसर तथा मो.अवेस मो.लतीफ को पुलिस ने हिरासत में लिया है. जिनसे 3 देसी पिस्तौल व 8 कारतूस जब्त किये है. देसी कट्टा तस्करी में और कई लोगों के नाम सामने आये है. इस प्रकरण के सामने आने के बाद कई लोग भूमिगत हो गए है. जिनकी पुलिस तलाश कर रही है. सीपी डा.आरती सिंह के मार्गदर्शन में पीआय कैलाश पुंडकर, पीएसआइ राजकिरण यवले, राजेश राठोड, गजानन ढेवले, निलेश जुनघरे, दीपक दुबे, सै.इमरान, चेतन कराडे कार्रवाई में शामिल हुए.