7 प्रकल्पग्रस्त गावों के पुनर्वास पर ब्रेक, तत्काल प्रबंध करने राणा ने चेताया

    अमरावती. जिलें के 7 गांवों में पेढ़ी परियोजना के पुनर्वास से संबंधित मूलभूत कार्य पुर्ण ही नहीं किए जाने से नाराज लोगों की शिकायत पर शनिवार को विधायक रवि राणा ने संबधित अधिकारियों की क्लास ली. जिसमें पुनर्वास के सभी लंबित कामों को तत्काल पुर्ण कराने का अल्टिमेटम दिया. पेढी प्रकल्प के बाधित परिवारों की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अधिकारी प्रत्यक्ष गांवों में जाकर ग्रामीणों को विश्वास में लें. इस मामले में अधिकारियों की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करने की चेतावनी भी विधायक रवि राणा ने बैठक में जारी किया. 

    अन्यथा अधिकारियों की बिजली, पानी काटेंगे

    पेढी प्रकल्प बाधित गांव हातुर्णा, सावरखेड़, कुंड खुर्द, गोपगदाण, अडणगांव, कुंड सर्जापुर, ततारपुर आदि गांव के बाधित परिवारों की शिकायतें निपटाने के लिए विधायक राणा ने अतिरिक्त जिलाधिश रामदास सिद्धभट्टी के कक्ष में एक बैठक का आयोजन किया. बैठक में पीडित लोगों ने अपनी समस्याओं का बखान करते बताया कि लोगों को पुनर्वास अंतर्गत घरों के निर्माण के लिए राशि उपलब्ध नहीं कराई गई है. सड़कें व नालीयों के काम नहीं किए जा रहे है. बिजली नहीं है, पानी की भी व्यवस्था भी नहीं है.

    अधिकारियों से बार-बार मिलने के बाद भी अधिकारी वर्ग ढिलाई से काम कर रहा है. लोगों के सवालों के जवाब तक नहीं दिए जा रहे है. जिस पर भड़के राणा ने लोगों की शिकायतों का निराकरण ना करने वाले अधिकारियों की बिजली, पानी कनेक्शन काटने की चेतावनी भी दी गई है. बैठक में पेढ़ी परियोजना के कार्यपालन अधिकारी पटले, उप कार्यपालन अधिकारी मानकर, विद्युत विभाग के मोरे, मजीप्रा अभियंता सोलंकी, समूह विकास अधिकारी विजय रहाटे समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे.