Cyclone Amphan: Trouble in parts of Kolkata

  • आज बारिश की भी संभावनाएं  

अमरावती. पश्चिम बंगाल के उपसागर में निवार चक्रवात तैयार हुआ है. यह चक्रवात पश्चिम वायव्य दिशा से होते हुए 25 नवंबर तक करायकल और मल्लापुरम (तमिलनाडू) के पास तीव्र रुप से धमकने की संभावनाएं हैं. इस तूफान के तेज बहने की क्षमता 120 किमी प्रति घंटा हो सकती है. परिणामत: विदर्भ में भी इस तूफान का थोड़ा बहुत असर पड़ने की संभावना व्यक्त की जा रही है.

विदर्भ में 10 से 15 किमी प्रति घंटे से हवाएं बहनें के आसार है. इसके अलावा 27 नवंबर तक विदर्भ के कुछ जगहों पर बिजली की गड़गड़ाहट के साथ बारिश के भी आसार है. मौसम विभाग के अनुसार जारी अनुमान से किसानों पर दुबारा आसमानी संकट बरसने का खतरा है.

ऐसा है मौसम विभाग का अनुमान

26 नवंबर को अमरावती, अकोला, बुलढ़ाणा जिले में कुछ गांवों में बारिश की संभावना है. शेष विदर्भ में छिटपुट बारिश की संभावना है. तो कुछ जगहों पर बिजली की गड़गड़ाहट के साथ बारिश होगी. 27 को गडचिरोली, चंद्रपुर, यवतमाल और वाशिम जिले में थोड़े बहुत क्षेत्र में बारिश की संभावना है. जिसके बाद 30 नवंबर से विदर्भ में मौसम सूखा रहेगा. जबकि 3-4 दिनों में तापमान में भी 12 से 15 डिग्री तक गिरवाट आने की जानकारी शिवाजी कृषि महाविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ अनिल बंड ने दी है.

बढ़ेगी ठंड़

इस वर्ष ठंड की शुरूआत होने के बावजूद ठंड़ का असर अभी तक दिखाई नहीं दे रहा है. लेकिन 25 नवंबर से ठंड़ में बढ़ोतरी होगी. अब निवार चक्रवात से विदर्भ में पूर्व दिशा से हवाएं बहनें लगेगी. उत्तर दिशा से बहने वाली हवा ठंड़ को बढ़ाएगी.

गोंदिया, अमरावती व नागपुर में सर्दी बढ़ी

बुधवार को विदर्भ में गोंदिया जिला सर्वाधिक ठंडा रहा.मौसम विभाग के अनुसार गोंदिया का न्यूनतम तापमान 12.4 डिग्री दर्ज किया गया. अमरावती जिला-13.7 और नागपुर जिला का न्यूनतम तापमान 13.3 डिग्री रिकार्ड किया गया. निवार चक्रवात के असर से और ठंड़ बढ़ने की संभावना है.  अन्य जिलों की बात करें तो बुलढाणा- 15.4, अकोला-16.2, चंद्रपुर-16.2, गड़चिरोली-14.4, वर्धा-13.5, वाशिम 13.4, और यवतमाल जिले का न्यूनतम तापमान 13.5 डिग्री दर्ज किया गया.