यूट्यूब पर छाया तेजस का रैप सांग, तेजी से हो रहा सस्क्राइब

चांदुर रेलवे. हर किसी को जीवन में कोई ना कोई कला होती है. ऐसा ही एक शौक चांदुर रेलवे के तेजस इमले को है. तेजस को रैप गीतों की रचना करने और उन्हें गाने का शौक है. अब तक उसने 6 रैप सांग बनाकर यूट्यूब पर डाले है. जिन्हें काफी पसंद किया जा रहा है. लोग उसके रैप सांग को सस्क्राइब कर रहे हैं.

चांदूर रेलवे का नाम चमकाया

तेजस इमले को गायक यो-यो हनी सिंह ने रैप गीत लिखने के लिए प्रेरित किया और इसे शूट करने की कला सीखी. तेजस को पीपल्स कला मंच सांस्कृतिक आंदोलन में नाटक और नृत्य सबक लेते हुए गायन के लिए आकर्षित किया. तेजस अर्न एण्ड लर्न तत्व पर आगे बढ़ रहा है. तेजस के पिता नप में सफाई कर्माचरी है. परिवार की आर्थिक हालत सामान्य होने से वह गुब्बारे सजाने का काम करता है. पिता के साथ सफाई काम पर भी जाता है.  गत् 6 वर्ष से वह गीत लिखने का काम करता है. संगीत के साथ पर वह गायन करता है. एक रैप सांग तैयार करने में उसे 15 से 20 हजार रुपए लगते है, लेकिन उसके रैप सांग उसे अलग पहचान दे रहे है. वह इसी क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहता है. उसे विश्वास है कि उसके गीत यूट्यूब पर हीट होंगे.