सादगी से मनेगा क्रिसमस- सज रहे चर्च, नहीं होगी कैरल सिंगिंग

अमरावती. गुलाबी ठंड के मौसम में क्रिसमस का त्योहार दिलों में खुशियां और नवउत्साह भर देता है. क्रिश्चन समुदाय के लोगों के साथ ही आम लोग खास तौर पर बच्चे भी वर्ष भर इस पर्व का इंतजार करते है, लेकिन इस बार कोविड 19 के चलते यह त्यौहार का उत्साह फीका पड़ गया है. लोग अपने-अपने घरों में ही यह त्यौहार मनाने की तैयारियां कर रहे है. चर्च में भी डेकोरेशन कर प्रार्थना व सीमित आयोजन की तैयारियां हैं. स्कूलें बंद होने से यहां भी हर वर्ष की तरह इस बार कोई उत्सव नहीं होगा. 

घरों में ही मनाएंगे पर्व, चर्च में डेकोरेशन

प्रभु इशू के जन्मदिन के रुप में मनाए जाने वाले क्रिसमस पर शहर इर्विन चौक स्थित  रोमन कैथलिक चर्च, कैम्प स्थित चर्च, बडनेरा के चर्च में विविध धार्मिक व आयोजन  होते है. साथ ही होलीक्रास, ज्ञानमाता, सेंट जेवियर जैसी स्कूलों में भी क्रिसमस उत्सव मनाया जाता है. लगभग 1 माह पहले से तैयारियां शुरू होती है. यीशु के जन्म प्रसंग पर झांकियां साकार होती है. विद्यार्थी सांस्कृतिक कार्यक्रम, नृत्य गीत यीशु के जन्म प्रसंग पर आधारित ड्रामा, विविध स्पर्धाएं होती हैं. सांता क्लाज द्वारा उपहार की झड़ी लगने का सभी छात्र बेसब्री से इंतजार करते हैं. लेकिन इस बार कोविड के कारण ऐसे आयोजन नहीं होंगे. क्रिश्चन समुदाय के लोग अपने परिवारों में सादगी के साथ पर्व मनाएंगे. 

कैरल सिंगिंग का भी आयोजन नहीं 

प्रतिवर्ष चर्च की ओर से सभी समाज बंधुओं के घरों पर जाकर कैरल सिंगिंग करने की प्रथा 15 पहले से आरंभ की जाती है. रोजाना सुसज्ज ओपन वाहन में संगीत की धून पर समुदाय के कई लोग एक एक घर पर जाकर कैरल सिंगिंग कर प्रभू यीशु के आने की बधाई देते है. लेकिन इस बार यह सार्वजनिक परंपरा खंडित होगी.  

इस बार सूना-सूना है पर्व

स्कूल में हम हर बार उत्साह से क्रिसमस पर्व मनाते है, लेकिन इस बार कोविड-19 के कारण स्कूलें बंद हैं. हम स्कूल में कुछ डेकोरेशन तो कर रहे है. चर्च में प्रार्थना होगी. कोरोना के इस संकट से देश को शीघ्र मुक्ति मिले, देश फिर खुशहाल बने. हम इसकी प्रार्थना करेंगे.-फादर जोसलिन, प्रिन्सीपल ज्ञानमाता स्कूल

विश्व शांति व अमन के लिए करेंगे प्रार्थना

स्कूल बंद होने से उत्सव व कार्यक्रम नहीं होंगे. इस बार लोगों से अपने-अपने घरों में यह पर्व उत्साह पूर्वक मनाने का अनुरोध है. स्कूल में मामूली सजावट होगी. हम सभी परंपरागत रुप से सीमित स्तर पर यह क्रिसमस मनाएंगे. प्रभू यीशु कोविड 19 महामारी से हमें जल्द सुरक्षित रखेगें. ऐसा हमारा विश्वास है. प्रार्थना होगी.-सिस्टर एलसी, प्रिन्सीपल होली क्रास प्रायमरी स्कूल