cold

अमरावती. इन दिनों रात में ठंड बढ़ने लगी है. जिससे गर्म कपड़ों का चलन बढ़ने लगा है. शहर में ऊनी कपड़ों की दुकानों में अब भीड़ बढ़ने लगी है. दिन प्रतिदिन गहराती ठंड की वजह से जहां सुबह सैर पर जाने वाले लोगों की उपस्थिति में कुछ फर्क देखने को मिल रहा है, रात में ठंड से बचने के लिये लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है.

जलने लगे अलाव

रात  के समय में ठंड से बचने के लिये समृध्द परिवार के लोग रुम हीटर, गर्म कपड़े कंबल, रजाई का सहारा ले रहे हैं तो दूसरी ओर गरीब तबके के लोग सूखी लकड़ियों को एकत्रित कर अलाव जलाकर राहत पाने की कोशिशों में जुटे है. हालांकि पूर्व वर्ष की तुलना में इस वर्ष सर्दी का आंकड़ा कम होने की बात कही जा रही है. 

सेंक रहे धूप

ठंड से राहत पाने के लिये लोग सुबह धूप में खड़े होकर गर्माहट पाने की कोशिश करते हैं, ताकि ठंड से राहत मिल सके. सर्द हवाओं और मौसम से बचने के लिये सुबह-सुबह लोग ऊनी और रंगारंग कलर के जैकेट को पहने हुए ठंड से बचने का प्रयास करते हैं. वहीं शाम होते ही अलाव जलाकर ठंडक भरे माहौल में गर्माहट पाने की कोशिशे कर रहे हैं.

गर्म कपड़ों की मांग बढ़ी

शहर के जयस्तंभ चौक, सरोज चौक, गांधी चौक, बडनेरा, गाड़गेनगर, के बाजारों पर खरीददारी का दौर शुरु हो गया है. इतना ही नहीं जवाहर रोड, जयस्तंभ में रेडीमेड दूकानों में जैकेट, ऊनी स्वेटर सहित अन्य आयटमों की साज-सज्जा कर बेची जा रही है. महंगाई के दौर में जहां हर वस्तुएं महंगी होती जा रही है वहीं गर्म कपड़ों पर भी महंगाई की मार देखने को मिल रही है.