Confusion in public regarding lockdown and unlock, Fadnavis targets CM
दौरे के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष देवेन्द्र फडणवीस

अमरावती. विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएम ने 1 जुलाई से लॉकडाउन कायम रखे जाने की घोषणा की है, लेकिन लॉकडाउन में क्या बंद रहेगा और अनलॉक में क्या खुलेगा. इसको लेकर कुछ भी स्पष्टता नहीं है, जिससे जनता संभ्रम में है. मुख्यमंत्री ठाकरे लॉकडाउन और अनलॉक की स्पष्टता का योग्य रूप से खुलासा करें. सबकुछ प्रशासन पर छोड़ना योग्य नहीं है.

महाराष्ट्र में कोरोना का रेट ऑफ इन्फेक्शन अत्याधिक बढ़ा है, जिससे टेस्टिंग बढ़ाने की नितांत आवश्यकता है. महाराष्ट्र में लोटेस्टिंग की स्ट्रेटजी ठीक नहीं है. मुंबई में जहां डेली 5,000 लोगों की टेस्टिंग हो रही है. वही दिल्ली में रोजाना 20,000 से अधिक लोगों की कोरोना टेस्ट चल रही है.

पेट्रोल दर वृद्धि के लिए राज्य जिम्मेदार
सोमवार को अमरावती जिले के दौरे पर आए पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने पत्र परिषद में कहा कि पेट्रोल दरवृद्धि के लिए केंद्र सरकार कदापि जिम्मेदार नहीं है. राज्य के वैट टैक्स का यह इफेक्ट है. महाविकास आघाड़ी सरकार ने हाल ही में पेट्रोल पर 3 रूपये का टैक्स बढ़ाया है. जबकि भाजपा के सत्ता काल में राज्य में पेट्रोल पर 5 रुपये का टैक्स घटाया था.

किसानों के हाल-बेहाल
किसानों के मुद्दे पर सरकार को जमकर घेरा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 5,700 करोड़ रुपए दिए जाने के बाद भी महाराष्ट्र में कपास खरीदी नहीं निपट पाई. कपास उत्पादक किसान परेशान है. बोगस बीजों के मामले में कार्रवाई के साथ ही किसानों को उचित मुआवजा मिलना अत्यावश्यक है. इसके लिए बीज कानून के अंतर्गत बीज कंपनियों से पैसा वसूल किया जाना चाहिए.

वैधानिक बोर्ड की मियाद बढ़ाओ
पश्चिम महाराष्ट्र के नेता के दबाव में आकर मंत्रिमंडल में विदर्भ वैधानिक विकास बोर्ड की समयावधि बढ़ाने का निर्णय नहीं लिया जा सका. इसके लिए विदर्भ के सभी मंत्रियों से एकजुट होकर अपने क्षेत्र को न्याय दिलाने के लिए इस बोर्ड की अवधि बढ़ाने का आग्रह किया. पत्र परिषद में जिला अध्यक्ष निवेदिता चौधरी, शहर अध्यक्ष किरण पातुरकर, मेयर चेतन गावंडे, तत्कालीन पालकमंत्री प्रवीण पोटे, डा. अनिल बोंडे, विधायक रवि राणा, डा. सुनील देशमुख, सांसद रामदास तडस, शिवराय कुलकर्णी उपस्थित थे.