स्काय वॉक के लिए केंद्र से पत्र व्यवहार

    चिखलदरा. एशिया का सबसे बड़ा स्काय वाक पूर्ण करने के लिए केंद्र सरकार से पत्र व्यवहार कर प्रक्रिया पूर्ण करने का आश्वासन पालकमंत्री एड. यशोमति ठाकुर ने दिया. स्काय वाक के निर्माण स्थल को भेंट देकर उन्होंने कार्य की प्रगति की समीक्षा की. स्काय वाक के दोनों भीमकाय पिल्लरों के बीच टेंशन लाईन डालने के लिए केंद्रीय पर्यावरण विभाग की एनओसी आवश्यक है. यह एनओसी नहीं मिलने के कारण स्काय वाक का काम ठप पड़ गया है. 

    सभी रूकावटें दूर करने प्रयास 

    नगराध्यक्ष विजया सोमवंशी व राजेंद्र सोमवंशी समेत नगरसेवकों ने इस समस्या को दूर करने के लिए पालकमंत्री से गुहार लगाई. इस पर उन्होंने कहा कि चिखलदरा का सर्वाधिक आकर्षण केंद्र साबित होने जा रहे स्काय वाक में किसी तरह की रूकावट नहीं होने देंगी. तत्काल केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय से पत्र व्यवहार कर यह समस्या दूर करने हर संभव प्रयास करेंगी.

    उन्होंने इस बात पर कड़ी आपत्ति जताई कि कुछ लोग स्काय वाक की बाधा दूर करने की बजाय विकास कार्यों में भी छल-कपट की राजनीति से बाज नहीं आ रहे है. यह पर्यटन नगरी व पर्यटकों को  एक तरह से गुमराह करने वाली बात है. डेल्टा प्लस का खतरा बढ़ने  से दूकानों व प्रतिष्ठानों का समय घटाया गया है. इसीलिए यहां के गाविलगढ़ समेत अन्य पर्यटन शुरू रखने का निर्णय आवश्यक दक्षता जांच लेने के बाद करने का आश्वासन दिया.