बिजली बिल माफी की प्रतीक्षा में ग्राहक

  • बिजली चोरी पर भी नहीं लग रहा ब्रेक

चांदूर बाजार. कोरोना जैसे संकट से निपटने लगाए गए लाकडाउन के चलते नागरिक आर्थिक तंगी से गुजर रहे है. उसके बावजूद बिजली महावितरण कंपनी द्वारा ग्राहकों को बेतहाशा बिल भेजे गये है. लेकिन नागरिक लाकडाउन की अवधि का बिजली बिल माफ करने की मांग कर रहे है. सैकड़ों ग्राहक अब भी बिजली बिल माफी की प्रतीक्षा में है. इतना ही नहीं तो बिजली चोरी पर नियंत्रण ना किए जाने से आम नागरिकों पर मुसीबत बढ़ रही है. ऐसा आरोप भी  नागरिक लगा रहे है. 

आम नागरिक भुगत रहे खामियाजा

ग्रामीण क्षेत्रों तक बिजली पहुंची तो है. लेकिन बिजली महावितरण कंपनी द्वारा उचित मेटनेन्स ना किए जाने व कार्रवाई नहीं किए जाने से बिजली चोरी बढ़ रही है. लोग हुक डालकर,  कई बिजली चोर मीटर में छेड़छाड़ कर चोरी की बिजली का उपयोग बडे पैमाने पर करते है. जिसका खामियाजा आम ग्राहकों को उठाना पड़ रहा है. नागरिकों का आरोप है कि पहले ही लाकडाउन के समय में व्यापार, व्यवसाय ठप रहे. नौकरियां भी चली जाने से लोग बेरोजगार हुए. आर्थिक रुप से बदहाल लोगों पर बिजली महावितरण कंपनी ने मोटे बिजली बिल लादकर उनके साथ दोगुना अन्याय किया है. अब ग्राहक बिजली बिल माफ होने का इंतजार कर रहे है.  बिजली बिलों को लेकर कई बार माफी मिलने की अफवाह भी फैली है. जिससे नागरिक असमंजस में है. बिजली महावितरण कंपनी शीघ्र स्थिति साफ कर यह माफी दे, यह मांग नागरिकों व्दारा की गई है. बिजली चोरों पर भी नकेल कसने की मांग की जा रही है. 

चोरी रोकने एक्शन 

बिजली चोरी पर कार्रवाई के लिए एक स्पेशल टीम तैयार की गई है. उनके पास शिकायत आने पर कार्रवाई की जाती है. लेकिन कोरोना काल में तीन-चार कर्मचारी साथ लेकर जाना और कार्रवाई करना कठिन है. 

-सुधीर वानखडे, अभियंता