दर्यापुर नप की सीमा बढ़ी, भाजपा का फालोअप, कांग्रेस ना ले श्रेय

    दर्यापुर. दर्यापुर नगर पालिका की सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव व पूर्ति भाजपा के कार्यकाल में से ही शुरू है. यह भाजपा की उपलब्धि है. केवल मंजूरी कांग्रेस काल में मिली है. दर्यापुर के तत्कालीन विधायक रमेश बुंदिले, प्रकाश भारसाकले व नगराध्यक्ष नलीनी भारसाकले के प्रयास से ही नप की सीमा बढ़ी है. 

    बुंदिले व भारसाकले की मेहनत 

    भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष अतुल गोले, जिजाई प्रतिष्ठान के विनय गावंडे, नगरसेविका हर्ष व गोपाल निर्मल ने बुधवार को पत्र परिषद में कहा कि कांग्रेस इसका श्रेय लेने का बिलकुल प्रयास ना करें. सीमा बढ़ोतरी में साईंगनर, गायवाड़ी समेत आधा दर्जन ग्राम पंचायतों का समावेश किया गया है.

    ग्राम पंचायत के प्रस्ताव, सीमा बढ़ोतरी को लेकर इस्टिमेट व नगर पालिका के प्रस्ताव समेत अन्य दस्तावेजों की पूर्तता कर सरकार के दरबार में यह मुद्दा उपस्थित कर लगातार फालोअप लिया गया. तत्कालीन विधायक बुंदिले व भारसाकले ने यह कार्य किया. कांग्रेस की सत्ता काल में केवल मंजूरी मिली है. इसीलिए कांग्रेस इसका श्रेय ना ले. पत्र परिषद में साईंनगर निवासी रितेश लांडे भी उपस्थित थे. 

    2014 से प्रयास 

    विधायक 2019 को निर्वाचित हुए. जिसके बाद डेढ वर्ष से कोरोना था. इतने कम दिनों में नप की सीमा बढ़ाने को मंजूरी मिलना हास्यास्पद है. भाजपा के माध्यम से वर्ष 2014 में ही संपूर्ण प्रकरण का फालोअप लिया गया.-अतुल गोले, जिलाध्यक्ष, भाजपा किसान मोर्चा

    नये सिरे से फालोअप 

    सीमा बढ़ोतरी का प्रस्ताव शासन दरबार में धूल खाते पड़ा था. हमने नये सिरे से फालोअप किया. नगर विकास मंत्रालय में पक्ष रखकर मंजूरी प्राप्त करवा ली. पालकमंत्री एड. यशोमति ठाकुर व मंत्री एकनाथ शिंदे का योगदान है. -बलवंत वानखड़े, एमएलए दर्यापुर