Crop Damage
File Photo

    दर्यापुर. क्षतिग्रस्त पुल को बचाने के लिए ठेकेदार ने सीधे नाले में बांध बनाने से नाले का पानी किसानों के खेतों में घुसने से एक बार नहीं बल्कि दो बार खेत जमीन बहने से नुकसान हुआ हे. घटना दर्यापुर से अकोट रोड पर येवदा में निणार नाला पर हुई. ठेकेदार अथवा निर्माण विभाग द्वारा किसानों को मुआवजा नहीं देने पर निर्माण विभाग में कीचड़ उछालने की चेतावनी प्रहार के प्रदीप वडतकर ने दी है.

    पिछले माह पहली बार बहा खेत

    दर्यापुर से अकोट रोड तक सड़क चौड़ाईकरण का काम पिछले कुछ दिनों से धीमी गति से चल रहा है. पुल का निर्माण मानसून की शुरुआत से पहले पूरा होना अपेक्षित था. 13 जून, 2021 को भारी बारिश से पुल के निर्माण का सेंट्रींग मिट्टी समेत बह जाने से पुल क्षतिग्रस्त हो गया था. आगे और अधिक नुकसान से बचने के लिए संबंधित ठेकेदार जैन ने आर्थिक नुकसान न होने के लिए नाले पर एक बड़ा बांध बनाकर पानी को रोकने का प्रयास किया.

    नतीजा यह हुआ कि बाढ़ का पानी आसपास के खेतों में घुस गया और खेतों में पानी भर गया. प्रहार जनशक्ति पार्टी के जिला संपर्क प्रमुख प्रदीप वडतकर ने दर्यापुर के तहसीलदार योगेश देशमुख व लोक निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता संदीप देशमुख को ज्ञापन देकर किसानों को मुआवजा दिलाने की मांग की थी, लेकिन प्रशासन या ठेकेदार की ओर से कोई मुआवजा नहीं मिला.

    फिर खेत तैयार कर की बुआई 

    मदद नहीं मिली तो किसानों ने खराब हुई खेत जमीन को फिर से जोत कर बुआई की. जैसे तैसे फसल उगना शुरू हुई, इस बीच गुरुवार को हुई मूसलाधार बारिश के कारण नाले के बाढ का पानी खेतों में भर गया. जिससे अंकुरीत फसलों के साथ खेत जमीन बह गई. किसानों का भारी नुकसान हुआ है. फसल क्षति का तत्काल निरीक्षण कर नुकसान की भरपाई की जाए, अन्यथा क्षेत्र के लोक निर्माण विभाग, तहसील कार्यालय पर कीचड़ फेंकने की चेतावनी किसानों की ओर से प्रदीप वडतकर ने दी है.

    किसानों ने दी आत्मदाह की चेतावनी 

    फसल का मुआवजा नहीं देने पर येवदा के किसान मुकेश रघुवंशी ने तहसील कार्यालय में आत्मदाह करने की चेतावनी दी है. उनके साथ किसान अमानुल्लाह खान, दिलावर खान और अन्य किसान आंदोलन की तैयारी में हैं. निणार नाले की बाढ़ के कारण गुरुवार को दर्यापुर-अकोट मार्ग चार से पांच घंटे के लिए बंद रहा. इस बारे में तहसीलदार योगेश देशमुख ने कहा कि संबंधित ठेकेदार व मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करेंगे.