death
File Pic

    अमरावती. टाप थर्टी थ्री सायन्स एकेडमी ने चिखलदरा पिकनिक के नाम सपर कोचिंग क्लास के छात्रों को चिचाटी तालाब पर ले गए. यहां तालाब में डूबने से 17 वर्षीय छात्र श्रीनिधि प्रवीण सकलकले (वृंदावन कालोनी) की मौत हो गई.

    मृतक के पिता प्रवीण सकलकले ने बेटे की इस अकाल मौत के मामले में गैर जिम्मेदाराना  हरकत के साथ ही अमानवियता दिखाने पर कोचिंग क्लास संचालक पर एफआइआर दर्ज करने की मांग की. शुक्रवार को उन्होंने पुलिस अधीक्षक डा.हरि बालाजी एन को लिखित शिकायत दी.  

    परतवाड़ा में क्यों नहीं किया इलाज

    टाप थर्टी थ्री सायन्स एकेडमी कोचिंग क्लासेस ने 13 जुलाई को कोचिंग क्लास में शिक्षा ले रहे 107 छात्रों को विदाई समारोह के लिए चिखलदरा के नाम से पिकनिक पर ले गए थे, जिसमें श्रीनिधि सकलकले भी शामिल था. यह पिकनिक चिखलदरा ना ले जाते परतवाड़ा से कुछ दूरी पर चिचाटी तालाब पर की गई.

    यहां तालाब में डूबने से छात्र श्रीनिधि सकलकले की मौत हो गई. अभिभावकों की बगैर अनुमति  के अतिदुर्गम क्षेत्र में पिकनिक पर ले जाने वाले कोचिंग के शिक्षक श्रीनिधि का परतवाड़ा में इलाज कर सकते थे, लेकिन उन्होंने वहां इलाज नहीं करवाया, जबकि उसे सीधे अमरावती के निजी अस्पताल ले आये. 

    प्रकरण रफा-दफा करने दबाव का आरोप 

    इस घटना के बाद 107 में से किसी भी विद्यार्थी को श्रीनिधि के परिवार को सूचित करने फोन तक नहीं लगाने दिया. एकेडमी के प्रमुख विजय विक्रम व उनके सहयोगी शिक्षकों ने उनके परिवार को इतने बड़े हादसे की सूचना तक देना जरूरी नहीं समझा.

    प्रकरण दबाने के लिए झूठी जानकारी व छात्रों पर दबाव डाला जा रहा है. इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर टाप थर्टी थ्री साइन्स एकेडमी के संबंधितों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई करें. ऐसी मांग मृतक छात्र के पिता ने एसपी से की. 

    पीएम रिपोर्ट के बाद कार्रवाई

    पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई की जाएंगी. परिजनों ने जो आरोप लगाए है, उसके आधार पर पुलिस जांच चल रही है.- हरि बालाजी एन, एसपी