hospital
Representational Pic

  • अगले माह से शुरू होने की संभावना

अमरावती. जिला सरकारी अस्पताल के नेत्र उपचार कक्ष की जगह नेत्ररोग संबधित सुविधाओं से लैस अस्पताल अगले माह शुरु होने की संभावना जिला शल्य चिकित्सक डा. श्यामसुंदर निकम ने व्यक्त की है. इस अस्पताल के लिए वर्ष 2018 में राज्य सरकार ने मंजूरी प्रदान की गई थी. तबसे ही इसका निर्माण चल रहा है. डा. निकम ने बताया कि यह कार्य अंतिम चरण में है. नव के शुरूआत में ही यहां पर मरीजों का उपचार भी शुरू होने की संभावना है. 

आधुनिक उपचार से लैस

राज्य सरकार की ओर से जिला सरकारी अस्पताल में नेत्र संबंधित जटिल रोगों के उपचार के लिए अत्याधुनिक मशीनें, उपकरण, नेत्र ट्रांसप्लांट मशीनें, उपकरण, नेत्र ट्रांसप्लांट की व्यवस्थाएं स्थापित करने की मंजूरी दी गई थी. तबसे ही इर्विन के नेत्ररोग वार्ड में मशीनों की स्थापना तथा बुनियादी सुविधाओं के निर्माण का कार्य किया जा रहा था. 

उपकरणों का ट्रायल

नेत्र वार्ड में संपूर्ण व्यवस्थाएं पूरी की जा चुकी है. केवल मशीनों, उपकरणों के ऑपरेटिंग का ट्रायल किया जा रहा है. इस प्रक्रिया के पूरा होते ही नेत्र अस्पताल के संचालन के लिए मंजूरी मिल जाएगी. अस्पताल में अत्याधुनिक उपकरण, मशीनें,बेड व अन्य सामग्रियां उपलब्ध कराने के लिए शासन की ओर से 4 करोड 28 लाख रूपए मंजूर किए गए थे. इर्विन अस्पताल में आधुनिक नेत्र अस्पताल शुरू होने के बाद जिले तथा संभाग के नागरिकों को मुफ्त में बेहतर उपचार की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी. यह संभाग का पहला सभी सुविधायुक्त नेत्र अस्पताल होगा. निजी अस्पतालों में भी फिलहाल इस तरह की आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध नहीं है.

नेत्रदान, नेत्र बैंक की भी व्यवस्था

इर्विन अस्पताल में नेत्रदान स्वीकारने की व्यवस्था भी पूरी की जा रही है. इसके साथ ही नया ट्रेन अस्पताल तैयार होते ही अमरावती शहर में नेत्र ट्रांसप्लांट की सुविधा भी उपलब्ध हो जाएगी.

संभाग का सबसे आधुनिक नेत्र अस्पताल

शहर के इर्विन अस्पताल में तैयार किया जा रहा नेत्र अस्पताल संभाग के सभी जिलों में सबसे आधुनिक नेत्र अस्पताल होगा. इससे स्थानीय नागरिकों के साथ ही संभाग के अन्य जिलों में रहने वाले नागरिकों को भी काफी राहत मिलेगी. – डा. श्यामसुंदर निकम, जिला शल्य चिकित्सक