Tamil actor Indrakumar dies by suicide; Cops send mortal remains for postmortem

    अमरावती. अमरावती सेंट्रल जेल में एक न्यायिक बंदी ने कान पट्टी से गला घोंटकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. यह घटना बुधवार की दोपहर मध्यवर्ती कारागृह के बैरेक क्र.11 में हुई. न्यायीक कैदी राजेश मुन्ना जावरकर (22, दुबई, धारणी) है. इस प्रकरण में जेल जमादार महेंद्र अंबादास मेश्राम (47, सरकारी निवास, जेल) की रिपोर्ट पर फ्रेजरपुरा पुलिस ने राजेश जावरकर के खिलाफ आत्महत्या के प्रयास में धारा 309 के तहत मामला दर्ज किया. राजेश जावरकर का न्यायिक बंदी क्र. 1600 है. 

    नाबालिग से दुष्कर्म प्रकरण में नामजद

    धारणी में रहने वाली एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने के मामले में राजेश जावरकर के खिलाफ दुष्कर्म व बाल लैंगिक अत्याचार कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था. जिसमें 4 मई को एमसीआर पर राजेश को अमरावती सेंट्रल जेल भेज गया था, तभी से वह जेल के बैरेक क्र.11 में रह रहा था. बुधवार की दोपहर उसने जेल के टायलेट में कान पर बांधने वाली पट्टी से खुद का गला घोंटने का प्रयास किया. जिसके बाद वह टायलेट में गिर गया.

    अन्य कैदियों ने इस बारे में ड्यूटी पर तैनात जेल कर्मियों को जानकारी दी. जिसे तत्काल पहले जेल अस्पताल में ले गए. यहां से उसे जिला अस्पताल में रेफर किया. जहां इलाज चल रहा है. आत्मघाती कदम उठाने से जेल अधीक्षक रमेश काबंले के आदेश पर जेल कर्मी महेंद्र मेश्राम ने फ्रेजरपुरा थाने में कैदी के खिलाफ देर रात रिपोर्ट दर्ज कराई. पीएसआई गजानन राजमलु मामले की जांच कर रहे है.

    स्वास्थ में सुधार

    कपडे की कान पट्टी से न्यायिक बंदी ने आत्महत्या का प्रयास किया था, लेकिन तत्काल इलाज मिलने से उसके स्वास्थ्य में सुधार है. जिला अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है.-रमेश काबंले, जेल अधीक्षक