In Akola district due to continuous rain Heavy loss of farm crops, farmers in economic crisis

  • दीपावली के पूर्व ही रकम वितरित करने के आदेश

अमरावती. जून, जूलाई, अगस्त, सितंबर में खरीफ फसलों का हुए नुकसान को लेकर प्रशासन द्वारा दी गई रिपोर्ट के अनुसार राज्य सरकार ने किसानों की दीपावली अंधेरे न जाए इसलिए जिले को 168 करोड़ 53 लाख रुपयों की रकम जिले के प्रदान की है. इतना ही नहीं तो जिलाधिकारी शैलेश नवाल ने राजस्व प्रशासन को दिवाली के पूर्व यह रकम किसानों के बैंक खातों में वितरित करने के आदेश भी दिए है. जिसके चलते जल्द ही जिले के 3 लाख 66 हजार 916 किसानों के 3 लाख 14 हजार 869 हेक्टेयर पर हुए 33 फीसदी नुकसान हुआ है. जिला प्रशासन ने शासन को 230 करोड़ 76 लाख रुपयों का नुकसान होने की रिपोर्ट पेश की थी. जिसके अनुसार प्रथम चरण में 50 प्रतिशत रकम जिले को वितरित की गई है. 

बढ़ाकर मिली मदद 

जिले के 14 तहसीलों में खरीफ फसलों में मूंग, उड़द के साथ संतरा फलों का सर्वाधिक नुकसान हुआ है. शासन ने बाधित फसलों में जिरायती फसलों को प्रति हेक्टेयर 10 हजार रुपए दो हेक्टेयर तक तथा बहुवार्षिक फसलों के लिए 25 हजार रुपये हेक्टेयर व दो हेक्टेयर तक मर्यादा में नुकसान भरपाई देने का निर्णय लिया. हालांकि इसके पूर्व एनडीआरएफ के निकषों के अनुसार जिरायती फसलों के लिए 6 हजार 800 दो हेक्टेयर मर्यादा में 204 करोड़ तथा बहुवार्षिक फसलों के लिए 18 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर के निकष के अनुसार 26 करोड़ 63 लाख ऐसी कुल 230 करोड़ 68 लाख 26 हजार रुपयों की मांग शासन को की थी. सर्वाधिक रकम वरुड़ तहसील को 34 करोड़ 53 लाख रुपयों की रकम वितरित की गई है. जबकि सबसे कम रकम चिखलदरा को 4 करोड़ प्राप्त हुई है.   

तहसील निहाय वितरित की जानेवाली रकम (करोड़ों में)

तहसील रकम

अमरावती 14,60,60,000

भातकुली 10,82,34,325

तिवसा 10,06,89,000

चांदूररेलवे 11,76,27,650

धामणगांव रेलवे 12,98,25,700

नांदगांव खंडेश्वर 19,78,97,500

मोर्शी9,23,63,250

वरुड़34,53,20,650

दर्यापुर10,87,35,000

अंजनगांव सुर्जी 9,67,28,375

अचलपुर         5,53,03,100

चांदूरबाजार 8,09,22,500

धारणी 5,86,47,800

चिखलदरा 4,69,62,160

कुल        168,53,17,000

वापसी की बारिश के मुआवजे की प्रतीक्षा  

प्रशासन की माने तो यह रकम जून से सितंबर के दौरान हुए नुकसान भरपाई की है. जिसमें वापसी की बारिश से हुए नुकसान का मुआवजा नहीं होने से वापसी की बारिश से हुए सोयाबीन,तुअर और कपास के साथ अन्य फसलों व फलों के नुकसान हेतु किसानों को प्रतीक्षा ही करनी पड़ेगी. 

वितरित करने के आदेश जारी

बाधित फसलों के लिए पहले चरण में 50 प्रतिशत निधि प्राप्त हुआ है. जिसके लिए तहसील स्तर पर पात्र किसानों के खातों में यह निधि दिवाली के पूर्व वितरित करने के आदेश दिए है. – ड़ॉ. नितिन व्यवहारे, निवासी उपजिलाधिकारी