UP: Dispute between two groups in Kasauli village, security increased

    • आरोपी गिरफ्तार होने तक आंदोलन

    धामणगांव रेलवे. तहसील के मंगरुल दस्तगीर में कोतवाल पर हुए हमले के विरोध में कोतवाल संगठन ने काम बंद आंदोलन का ऐेलान किया है. मंगलवार की दोपहर तहसीलदार को निवेदन सौंप कर इस मामले में कडी कार्रवाई की मांग की है. उसी प्रकार जब तक हमलावर गिरफ्तार नहीं किए जाते तब तक कामबंद आंदोलन जारी रहने ही चेतावनी भी निवेदन में दी गई.

    रेत तस्करों ने किया हमला

    मंगरूल दस्तगीर के कोतवाल नितीन पडघान सोमवार की शाम घर जाते समय कुछ युवकों ने उसे बीच में रोककर जान से मारने का प्रयास किया. दिघी महल्ले घाट को लेकर मामला दर्ज करने कोतवाल नितीन पडघान ने 10 मई को पटवारी चव्हाण को जानकारी देने को लेकर हमालावरों से उससे बहस की. विवाद इतना बढ गया कि मारपीट शुरू हो गई. जैसे तैस नितीन जान बचाकर मंगरूल दस्तगीर थाने पहुंचा. यहां पुलिस को आपबिती बताकर शिकायत दर्ज कराई. पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है. 

    कर्मचारियों का मनोबल गिरा

    निवेदन में कहा गया कि प्रशासनिक कर्मचारियों पर लगातार होने वाले हमलों से उनका मनोबल गिर रहा है. वे अपने आप को असुरक्षित मा रहे है. ऐसे में आरोपियों पर कडी कार्रवाई करने की मांग की गई. निवेदन सौंपते समय कोतवाल संगठन के तहसील अध्यक्ष अवधूत पिंपोले, सचिव राहुल तायड़े, उपाध्यक्ष विपुल रालेकर, सुमित तुमसरे, अजय नेरकर, सलीम कुरेशी, अमोल खंडारे, प्रदीप देशमुख, वादके, रवि घाटे, संजय इरपाचे, रुपाली शेलके, रीना येलेकर, पद्मा स्थूल, शुभांगी इंगोले, मंडल अधिकारी विजय मसने, पटवारी भारत चिकटे, दिनेश ठाकरे, आशीष कडू, अमोल श्रीखंडे आदि समेत तहसील के कोतवाल व पटवारी उपस्थित थे.