Corona test mandatory for traders, corporator issued decree

  • कोरोना के बाद सभी विभागों से ली जानकारी

अमरावती. कोरोना महामारी के बाद अनलॉक होने से महापौर चेतन गांवडे फिर एक्शन मोड में आ गए है. कोरोना, राजनितिक व अन्य कारणों से थम चुके विकास योजनाओं की जानकारी ली. सभी विभाग प्रमुखों की बैठक लेकर उन्होंने समस्याओं को छुड़ाने के साथ साथ शहर विकास का मार्ग भी खुला करने के निर्देश बुधवार को हुई बैठक में दिए. 

प्रलंबित विकास कार्यों पर जोर 

बैठक में घरकचरा व्यवस्थापन, फिशरी हब, छत्री तालाब, राजापेठ उड्डाणपुल, प्रधानमंत्री आवास योजना आदि पर चर्चा की गई. नागरिकों की समस्याओं से जुड़े विभागों पर जोर देते हुए उन्होंने चक्कर कांटने के लिए मजबूर न करें ऐसे निर्देश दिये. प्रधानमंत्री स्‍वनिधी योजना, बॅनर आय / विज्ञापन टैक्स, विधी विभाग की प्रलंबित प्रकरण, वकील पॅनल, कोरोना, डेंगू व अन्य बीमारियों पर उपाययोजना, स्वच्छता विभाग का स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण 2020, अग्निशमन विभाग में जिला नियोजन समिति से प्राप्त निधि की प्रलंबित कार्य,  दिव्यांग योजना व अनुदान, सभी विभागों का कम्प्युटराइज, आवारा मवेशी, फिशरी हब, उद्यान की स्थिति, शिवटेकडी समेत संपत्ति टैक्स, अमृत योजना, दलित बस्ति, रमाई आवास पदोन्नति प्रकरण आदि पर चर्चा की. 

हॉकर्स जोन तैयार करें 

महापौर ने बैठक में हॉकर्स जोन तैयार कर नियोजन करने की सूचना दी. शहर में बड़े पैमाने पर हॉकर्स का प्रमाण बढ़ गया है. उन्हें जगह देकर शहर में अनधिकृत फेरिवालों को हटाने, दिव्यांगों के लिए नई योजनाएं चलाने, प्रधानमंत्री पथविक्रेता आत्मिर्भर बने इसलिए स्वनिधि योजना गतिमान करने, विज्ञापन वसूली को लेकर उचित नियोजन कर शुल्क कैसे मिलेगा, इसका भी नियोजन करने के आदेश दिये. डेंगू का प्रादुर्भाव कम करने स्वास्थ्य विभाग ने सुक्ष्म नियोजन कर नागरिकों में जनजागृति करने के भी निर्देश दिये. बैठक में उपमहापौर कुसुम साहु, सभागृह नेता सुनिल काले, नगरसेवक मिलींद चिमोटे, प्रकाश बनसोड़, तुषार भारतीय, उपायुक्‍त सुरेश पाटील, पर्यावरण तथा कर मूल्‍य निर्धारण अधिकारी महेश देशमुख, सहाय्यक संचालक नगर रचना आशिष उईके, सहाय्यक आयुक्‍त योगेश पिठे, अमित डेंगरे, तौसिफ काझी, वैद्यकीय स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विशाल काले, डॉ. सिमा नेताम, शिक्षणाधिकारी अब्‍दुल राजीक, कार्यकारी अभियंता 2 सुहास चव्‍हाण आदि उपस्थित थे.