28 से अधिक अतिक्रमण साफ, चांदूर बाजार नप प्रशासन ने की कार्रवाई

चांदूर बाजार: गत कई वर्षों से शहर में पनप रहे अतिक्रमण पर गजराज चलाकर मुख्य सड़कों पर ट्राफिक में आ रही बाधाएं दूर कर दी. पहले ही दिन नगरपालिका प्रशासन ने 28 से अधिक प्रतिष्ठानों का अतिक्रमण साफ कर दिया. इस अतिक्रमण से पालिका अंतर्गत आने वाली सड़कें भी छोटी हो गई.  दुपहिया वाहन चलाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था. अंतत: गुरुवार को नगरपालिका प्रशासन ने तगड़े पुलिस बंदोबस्त के बीच अतिक्रमण हटाया जिसके चलते सड़कों ने भी खुली सांस ली. 

आमसभा में सर्वानुमति से निर्णय 

नगरपालिका क्षेत्र की मुख्य मार्केट में बड़े पैमाने पर अतिक्रमण बढ़ता जा रहा था. मार्केट में जहां जगह मिलेगी, वहां प्रतिष्ठान धारक अपनी अपनी दूकानें लगा रहे थे. पालिका की पुरानी इमारत, सब्जी मार्केट, गांधी चौक, ताज लाइन, बेलोरा चौक आदि समेत मुख्य मार्गों का समावेश था. अतिक्रमण के कारण पालिका का राजस्व बड़े पैमाने पर डूब रहा था. 

यातायात में बाधा निर्माण होने की शिकायतें बढ़ती जा रही थी. शिकायतों की दखल लेते हुए नवनियुक्त मुख्याधिकारी पराग वानखड़े और सत्ताधारियों ने मिलकर शहर की सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करने का निर्णय लिया. आमसभा में सर्वानुमति से प्रस्ताव पारित किए जाने से सबसे बड़ी कार्रवाई की गई. 

8 ट्रक सामान जब्त 

सुबह 8 बजे से पुलिस स्टेशन क्षेत्र अंतर्गत आने वाले मार्ग समेत आस-पड़ोस का अतिक्रमण हटाया गया. पुलिस स्टेशन को अतिक्रमण मुक्त करने के बाद गजराज को मुख्य मार्केट में दाखिल किया गया. अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई में 74 प्रतिष्ठान धारकों को नोटिस थमाई गई थी. पहले ही दिन हुई कार्रवाई में फूटपाथ पर प्रतिष्ठान तैयार करने वालों पर गजराज चलाया  जिसमें जयस्तंभ चौक के व्यापारी संकुल में दूकानदारों द्वारा सड़क तक बनाए गए टिन शेड तथा टीन टपरियां भी हटाई गई.   कार्रवाई दो गजराज के माध्यम से की गई जिसमें 8 ट्रक भरकर सामान जब्त किया गया. 

मुख्याधिकारी-थानेदार सड़क पर उतरें 

कार्रवाई को लेकर पहले थोड़ा बहुत विरोध प्रतिष्ठान धारकों ने किया. लेकिन कुछ देर बात उन्होंने भी स्वयंस्फूर्ति से अतिक्रमण हटाने में मदद की. इस समय मुख्याधिकारी पराग वानखड़े तथा चांदुर बाजार के थानेदार सुनील किनगे और ब्राम्हणवाडी थड़ी पुलिस स्टेशन के थानेदार दीपक वलवी स्वयं मैदान में उतरे. उन्होंने भी अतिक्रमण धारकों को शहर की सुंदरता को बनाए रखने के लिए अतिक्रमण मुहिम में साथ देने का आह्वान किया.

इसके अलावा शिरजगांव कसबा एपीआई पंकज दाभाड़े, खुफिया विभाग के वीरु अमृतकर, प्रशांत भटकर, अचलपुर व समरसपुरा पुलिस स्टेशन के 13 पुलिस अधिकारी, 85 कर्मचारी व 2 आरसीपी प्लाटून के 46 कर्मचारियों के साथ स्वास्थ्य विभाग निरीक्षक राजेंद्र जाधव, परीमल देशमुख, कार्यालय अधीक्षक वैभव वैराले, नगर रचना अधिकारी परमेश्वर गाडगील तथा कर्मचारी उपस्थित थे.

15 दिन तक चलेगी कार्रवाई 

यह अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई आगामी 15 दिनों तक की जाएगी. दूसरे चरण में स्टेट बैंक परिसर में 84 दूकानों पर अतिक्रमण की कार्रवाई की जाएगी. -पराग वानखड़े, मुख्याधिकारी