death
File Pic

    धारणी. लंबे समय से मेलघाट में शासन-प्रशासन स्तर पर स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत शासन करोड़ों रुपए खर्च कर माता व बाल मृत्यु रोकने युद्ध स्तर पर जुटा है. लेकिन फिर भी माला व बाल मृत्यु का तांडव थमने का नाम नहीं ले रहा है. धारणी तहसील के हरिसाल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत आने वाले कोठा गांव में मंगलवार को माता मृत्यु हुई. 

    डेंगू पाजिटिव, प्लेटलेट काफी कम

    प्राप्त जानकारी के अनुसार कोठा स्थित मायके में रंजना मधू हेगडे की दूसरी प्रसूति थी. हरिसाल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया. टेस्ट में रंजना डेंगू पाजिटिव पाई गई. जिससे उसे रेफर किया गया. बताया जाता है कि प्रसूता को सुशीला नायर अस्पताल में रेफर किया गया. लेकिन हालत गंभीर होने से रंजना को 11 जुलाई को नायर अस्पताल से उपजिला अस्पताल में दाखिल कराया गया.

    रंजना की प्लेटलेट्स काफी कम मिली. जिसके कारण रंजना को अमरावती जिला सरकारी अस्पताल में रेफर करना पड़ा. लेकिन बीच रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. इसके पहले रंजना ने एक बच्ची को जन्म दिया. जिसका धारणी उपजिला अस्पताल में उपचार शुरू है. 

    नायर हास्पिटल से आई

    गत् 11 जुलाई को सुशीला नायर अस्पताल से फोन आया था. उन्होंने बताया कि रंजना नामक के रोगी है. जिसकी रिपोर्ट डेंगू पाजिटिव मिली है. प्लेटलेट्स 29 हजार से कम हो गई है. हमने रंजना को उपजिला अस्पताल में डेंगू का उपचार देना शुरू किया था, लेकिन रंजना की हालत चिंताजनक होने से उसे अमरावती जिला अस्पताल रेफर किया गया. -डॉ रेखा गजरलवार, अधिक्षीका धारणी