केवल अमरावती-बडनेरा शहर व अचलपुर नप क्षेत्र में रहेंगा लागू

    • आज शाम से 1 मार्च तक लाकडाउन 
    • किराना, दूध, मेडिकल सुबह 8 से दोपहर 3 तक रहेंगी खुली
    • थोक सब्जी मंडी तडके 3 से प्रातः 6 बजे ओपन रहेंगी 
    • दोनों शहरों में ट्यूशन क्लासेस व प्रशिक्षण रहेंगा बंद 

    अमरावती. कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार के आगे आखिरकार फिर एक बार लाकडाउन लागू कर दिया गया है. अनलाक के बाद यह पहला लाकडाउन है. इस बार यह लाकडाउन केवल अमरावती-बडनेरा महानगरपालिका क्षेत्र व अचलपुर-परतवाड़ा नगर परिषद क्षेत्र में तक ही यह लाकडाउन सीमित रहेंगा. सभी तरह की दूकानें, बाजार 22 फरवरी को रात 8 बजे के बाद से अगले 1 मार्च तक पूरी तरह बंद रहेंगे. जीवनावश्यक वस्तुओं की दूकानें जैसे किराना, राशन दूकानें, आटा चक्की, मेडिकल सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक ही शुरू रहेंगी.

    एमआयडीसी में मैनिफैक्टर व उद्योग इकाईयां शुरू रहेंगी. कोरोना के सर्वाधिक रोगी अमरावती व अचलपुर शहर में पाए जाने के कारण यह कोरोना चैन तोड़ने के उद्देश्य से यह कड़े कदम उठाने की नौबत आई है. कैबिनेट मंत्री व जिला पालकमंत्री एड. यशोमति ठाकुर ने रविवार को प्रेस कान्फ्रेस में यह घोषणा की. उन्होंने जनता से आह्वान किया कि कोरोना की चैन तोड़ने त्रिसूत्री नियमों का कड़ाई से पालन करें. अन्यथा अब संपूर्ण जिले में लाकडाउन लगाने विवश होना पड़ेंगा.  

    कोरोना चैन तोड़ने उपाय 

    उन्होंने स्पष्ट किया कि अब कोई विकल्प शेष नहीं रहा है. सितंबर 2020 में अमरावती शहर में 7 हजार कोरोना केसेस थीं. जबकि आज यह संख्या तिगुना पार हो गई है. पीक पिरियड में भी कोरोना ने सीमा लांघ दी है. जिससे सोमवार शाम से जीवनावश्यक वस्तुओं को छोड़ अगले सप्ताह तक सभी तरह का लाकडाउन लगाना पड़ रहा है.

    समस्त जनता से अनुरोध है कि अपना और अपने समाज का ध्यान रखे. मास्क का उपयोग अनिवार्य करें. सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करें. रविवार को कलेक्टर आफिस में समीक्षा बैठक के बाद संभागीय आयुक्त पीयूष सिंह, कलेक्टर शैलेश नवाल, सीपी डा. आऱती सिंह की उपस्थिति में पालकमंत्री ने 22 फरवरी को रात 8 बजे से अगले सप्ताह 1 मार्च तक अमरावती शहर व अचलपुर सिटी में यह लाकडाउन घोषित किया. शहर समेत जिले में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाई गई हैं. 

    यात्रा के लिए अब अनुमति अनिवार्य

    अमरावती शहर से दूसरी जगह यात्रा करने के लिए अब फिर एक बार पुलिस प्रशासन से अनुमति लेना अनिवार्य होंगी. शहर में सिटी पुलिस और अचलपुर-परतवाडा के लिए ग्रामीण पुलिस से यह अनुमति लेनी होंगी. माल परिहन नियमित जारी रहेंगी. दोनों शहरों में स्कूल-कालेज, शिक्षा प्रशिक्षण, ट्यूशन क्लासेस 1 मार्च तक बंद रहेंगी.

    अत्यावश्यक सेवाएं छोड़कर सभी तरह के कार्यालयों में केवल 15 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य की गई है. सभी तरह की शिक्षा संस्थाओं में अशैक्षणिक कर्मी, संशोधन कर्मी, वैज्ञानिक व उत्तर पत्रिका की जांच करने वाले तथा परीक्षा परिणाम घोषित करने वाले अधिकारी-कर्मचारी नियमित काम जारी ऱखेंगे. उल्लेखनीय है कि शहर समेत जिले में पहले ही 28 फरवरी तक स्कूल-कालेज बंद रखे जाने की घोषणा हो चुकी है. अब यह 1 मार्च तक बढ़ा दी गई है.  

    1 मार्च तक क्या रहेंगा बंद

    सभी तरह की दूकानें, बाजार, सलून, ब्यूटी पार्लर, सिनेमागृह, शाला-कालेज, ट्यूशन क्लासेस, प्रशिक्षण, जिम, स्वीमिंग पुल, मनोरंजन केंद्र, बाग-बगीचे, सामाजिक, राजनीतिक, शैक्षणिक, मनोरंजन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्नेह सम्मेलन, सभी तरह के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे.  

    कितने बजे तक खुली रहेंगी कौन-कौनसी दूकानें

    जीवनावश्यक वस्तुओं में किराना, सरकारी राशन दूकानें, आटा चक्की, दूध डेयरी, मेडिकल स्टोर्स सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक ही खुली रहेंगी. थोक सब्जी मंडी तडके 3 से प्रातः 6 बजे तक खुली रहेंगी. 

    होटल, रेस्टारेंट से केवल पार्सल सुविधा

    जिला प्रशासन द्वारा रविवार की शाम 6 बजे जारी आदेश के अनुसार 1 मार्च घोषित लाकडाउन में अमरावती महानगरपालिका क्षेत्र में आने वाले सभी तरह के प्रतिष्ठान होटल, रेस्टारेंट भी बंद रहेंगे. केवल पार्सल सुविधा की अनुमति दी गई है.. थोक सब्जी मंडी 3 से शाम 6 बजे शुरू रहेंगी.

    शहर में 15 व अचलपुर में 11 कंटेनमेंट जोन

    कोरोना हाटस्पाट बने अमरावती शहर में 15 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. जबकि अचलपुर सिटी में 11 कंटेनमेंट जोन बने है. कोरोना के प्रारंभिक दौर में जिस तरह के कड़े प्रबंध किए गए थे, ठीक उसी तरह की सख्त व्यवस्था करने जिला प्रशासन विवश हुआ है. कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए यह सख्ती बरती जा रही है.

    निगमायुक्त प्रशांत रोडे के अनुसार अमरावती शहर में 60 प्रतिशत क्षेत्रों में कोरोना ने पैर पसारे हैं. शहर में सर्वाधिक कोरोना रोगियों वाले हाटस्पाट 15 जगहों पर कंटेनमेंट जोन बनाए गए है. जिससे संक्रमण को रोकने जनता से त्रिसूत्री नियमों का पालन करने का पूरजोर आह्वान हैं. अचलपुर में 359 कोरोना बाधित रोगी उपचार ले रहे है.   

    जेईई परीक्षार्थी को रहेंगी अनुमति   

    गुरुवार 25 फरवरी को हो रही जेईई परीक्षा में शामिल हो रहे सभी परीक्षार्थियों को जिला प्रशासन ने राहत दी है. जेईई के सभी परीक्षार्थी त्रिसूत्री नियमों का पालन कर निर्धारित परीक्षा केंद्र पर पहुंचकर परीक्षा दे सकते है. कलेक्टर शैलश नवाल ने यह जानकारी दी है.  

    22 मार्च, अब 22 फरवरी का संयोग

    उल्लेखनीय है कि कोरोना के कारण पिछले वर्ष 22 मार्च 2020 को ही पूरे देश में लाकडाउन लगा दिया गया था. 11 माह बाद ठीक 22 फरवरी से अमरावती शहर व अचलपुर सिटी में लाकडाउन घोषित किया गया है. इस तरह 22 तारीख का यह संयोग नागरिकों के लिए चर्चा का विषय बना है.