मंदिर के द्वार पर पूजा, बिना चप्पल पैदल पहुंचे राणा दंपत्ति

अमरावती. विधायक रवि राणा व सांसद नवनीत राणा शनिवार को सैकड़ों समर्थकों के साथ बिना चप्पल पैदल यात्रा कर अंबा-एकवीरा माता के दर्शन करने पहुंचे. लेकिन मंदिर बंद होने के चलते मंदिर के द्वार पर ही पूजा व महाआरती की. उसी प्रकार कोरोना से जल्दी मुक्ति मिले, किसान खेतमजदूर सुखी हो, ऐसी कामना की.

सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

अनलॉक में मंदिर अब तक नहीं खोले जाने के चलते राणा दंपत्ति ने इस श्रध्दालूओं की भावना से खिलवाड़ करार देते हुए राज्य सरकार पर हमला बोला. राणा ने कहा कि भक्तों की श्रध्दा का विचार करते हुए नवरात्रि के आखरी दो दिन तो भी मंदिर खोलने की अनुमति देनी चाहिए थी. शराब की दूकानें, व्यापार, उद्योग शुरु है, लेकिन मंदिर, देवदर्शन बंद है. जिस पर राणा समर्थकों ने राज्य के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरें के खिलाफ नारेबाजी भी की.

पैकज नाकाफी

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा घोषित 10 हजार करोड़ के पैकेज को नाकाफी बताते हुए रवि राणा ने कम से कम 50 हजार करोड़ का पैकेज घोषित करने तथा किसानों को प्रति हेक्टेयर 50 हजार रुपए सहायता देने की मांग की. इस समय युवा स्वाभिमान जिलाध्यक्ष जितू दुधाने, शहराध्यक्ष संजय हिंगासपुरे, जयंत वानखडे, मनपा शिक्षा सभापति आशिष गावंडे, नगरसेविका सुमती ढोके, मालानी, विनोद जयस्वाल, वैभव वानखडे, अजय जयस्वाल, पराग चिमोटे, सचिन भेंडे, विनोद गुहे, संजय मुनोत, किशोर पिवाल आदि समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे.