बिजली कार्यालय में सांप छोड़ो आंदोलन, लोडशेडिंग पर युवा सेना आक्रमक

    नांदगांव खंडेश्वर.  नांदगांव शहर सहित तहसील के ग्रामीण भागों में एक महीने से बिजली कटौती की जा रही है. जिससे नागरिक परेशान है. इस अघोषित लोडशेडिंग के खिलाफ सोमवार को युवा सेना के जिला प्रमुख प्रकाश मारोटकर के नेतृत्व में बिजली कार्यालय में सांप छोड़ो आंदोलन किया गया. यहां उपकार्यकारी अभियंता शिंदे के टेबल पर जहरीला सांप छोड़ देने से हड़कंप मच गया. 

    वोल्टेज ना होने से नियमित जलापूर्ति नहीं

    महावितरण कंपनी के उपकार्यकारी अभियंता विलास शिंदे को कई बार बिजली कटौती होने की शिकायतें देने के बाद भी कोई हल नहीं निकाला जा रहा था. अधिकांश भागों में वोल्टेज ना होने से नगर पंचायत व ग्रामपंचायत से जलापूर्ति नहीं हो रही है, जबकि परिसर के स्ट्रीट लाइट बंद होने से बारिश के मौसम में सांप, बिच्छू जैसे जहरीले जीव जंतूओं का खतरा निर्माण हो गया है.

    ग्रामीण अस्पताल की एक्सरे मशीन  सहित अन्य सुविधाओं से लोग वंचित रह रहे है. 1 माह से लगातार शिकायतें करने के बावजूद कोई कार्रवाई ना होने से आखिरकार सोमवार को जिला प्रमुख प्रकाश मारोटकर ने महावितरण कंपनी के कार्यालय में सांप छोड़ो आंदोलन किया. 

    7 दिन बाद फिर आंदोलन

    7 दिन के भीतर महावितरण कंपनी ने व्यवस्था में सुधार करें, अन्यथा तीव्र आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी. इस समय सरपंच गोकुल राठोड़, सूरज औतकर,निखिल मोरे, निलेश निंबर्ते, पवन ठाकरे, अक्षय राणे, अजय काले, धनंजय भडके, आशिष हटवार, पंकज रामगांवकर, पवन पुसदकर,अक्षय तुपट, आशिष भाकरे, पवन मोकडेकर, अभय बनारसे,शुभम रावेकर, अमन मानकर, रोशन भातुलकर, विक्की बवीस्थले, सागर गटूले, तेजस जवलकर, श्याम मुले उपस्थित थे.