बारिश का पानी घरों में: ग्राम सेवक, प्रशासक कार्यालय में नहीं

वरुड. तहसील के पुसला गांव में बारिश का पानी रिहायशी क्षेत्र में घुस गया है. लोगों के घरों में यह पानी जाने से उनके घरों में रखा समाना इस पानी में तैर रहा है. लेकिन ग्राम सेवक व प्रशासक गांव में न होने से शिकायत किससे करे यह समस्या यहां क परेशान हाल नागरिकों के सामने खड़ी है. 

तीन दिनों से हालात हालात

तहसील में इन दिनों झमाझम बारिश जारी है. लेकिन पुसला में नालियों की पर्याप्त व्यवस्था न होने से यह पानी सडकों पर जमा होता है. अब बारिश होने के कारण पानी को बहाव न मिलने से यह गंदा  पानी लोगों के घरों के भीतर घुस रहा है.   तीन दिनों से घरों व गांव में पानी भरा होने से अब बिमारियां फैलने का खतरा मंडरा रहा है. जिससे लोगों में घबराहट है. 

विस्थापित गांव है पुसला

वर्ष 1991 की बाढ़ के कारण पुसला गांव का पुनर्वास किया गया था. लेकिन तब से प्रशासन इस गांव के साथ सौतेला बर्ताव कर रहा है. ऐसा आरोप गांववासी लगा रहे है. इस समय गांव में सरपंच पद का कार्यकाल समाप्त होने से प्रशासक की नियुक्ति की गई है. लेकिन प्रशासन गांव की समस्याओं से कोई सरोकार ही नहीं रखते हम करे सो कायदा वाली स्थिति गांव में बन गई है. रमेश वाघ सहित कईयों के घर में पानी भरा है. लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है. 

जल्द होगी समस्या हल 

गांव की स्थिति की सूचना मिली है. मैंने तुरंत समस्याएं हल करने की सूचना संबधितों को दी है. समस्या जल्द हल होगी. – वासुदेव कनाटे, गुट विकास अधिकारी