Customers are not leaving even after being unlocked, traders appeal to be careful

    अमरावती. शहर समेत जिले में कोरोना संक्रमण में कमी आने से जिले को लाकडाउन की पाबंदियों से राहत मिली है. लेकिन अनलाक में प्रशासन की कोरोना प्रतिबंधक कार्रवाईयां भी ‘लाक’ हो जाने के कारण नागरिकों में कोरोना का डर गायब सा हो गया है. लोग खुले आम बगैर मास्क घुमने लगे है.

    सोशल डिस्टेंसिंग का दूर-दूर तक पालन नहीं किया जा रहा, सैनिटाजर का इस्तेमाल तो लगभग बंद ही हो गया है. अभी कोरोना संक्रमण कम जरूर हुआ है. लेकिन कोरोना का खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है. इसीलिए कोरोना प्रतिबंधक नियमों का कड़ाई से पालन जरुरी है. 

    आन स्पाट टेस्टींग भी बंद 

    शहर में मनपा अंतर्गत सभी 5 जोन में चौराहों पर तथा प्रमुख क्षेत्रों में आन स्पाट कोरोना टेस्टींग अभियान चलाया जा रहा था. डेली 400 से 500 लोगों की आन स्पाट कोरोना टेस्टिंग की जा रही थी. लेकिन विगत हफ्ते भर से यह आन स्पाट टेस्टींग भी बंद कर देने से लोग भी बेफ्रिक घुमते दिखाई देने लगे है. प्रशासन ने ही प्रतिबंधक कार्रवाईयों से कदम पीछे लेने से अब नागरिक भी कोरोना को हल्के में लेने लगे है. 

    मनपा की सैनिटायजर मशिनें भी बंद 

    कोरोना संक्रमण को रोकने में कारगर भूमिका निभाने वाले सैनिटाजर का इस्तेमाल लगभग सभी ने बंद ही कर दिया है. महानगर पालिका में भी अब सैनिटायजर का इस्तेमाल बंद है. मनपा की इमारत में महापौर कैबीन, नेता विपक्ष का कक्ष, सदन नेता कक्ष, निगमायुक्त कक्ष व अन्य कार्यालयों के बाहर आटोमैटिक सेनिटाजर मशीने लगाई गई थी. इनमें से एक भी मशीन में सैनिटाजर भरा नहीं है. अधिकांश मशीने ही खराब होकर बंद पड़ी हुई है.