And a young man jumped into the Wardha River

अमरावती. अकोला जिले के दुर्गवाडा में देवदर्शन को गई रेवसा निवासी मां-बेटी पुर्णा नदी में बह जाने की घटना मंगलवार की सुबह 6 बजे हुई. 60 वर्षीय महिला की लाश मिल चुकी है, जबकि बेटी की तलाश जारी है. नांदगांव खंडेश्वर के जामठी निवासी एक परिवार मुर्तिजापुर के दुर्गवाडा स्थित मुखोजी महाराज मंदिर में 21 सितंबर को दर्शन के लिए गए थे. 

विधि के दौरान घटना

दिन भर बारिश आने के कारण गांव लौटना संभव नहीं हो पाया. इसीलिए विमल मनोहर अंभोरे (रेवसा, वलगांव), सारीका प्रदीप मोहोड, प्रदीप मोहोड, बेबीताई मोहोड (सभी जामठी, नांदगांव खंडेश्वर) रात को मंदिर में ही ठहर गए. जिसमें से विमल मनोहर अंभोरे (60, रेवसा) तथा सारीका प्रदीप मोहोड (34, जामठी) दोनों मां-बेटी सुबह 6 बजे नदी किनारे प्रात: विधि के लिए गई थी, तभी पुर्णा नदी में अचानक आयी बाढ में वह बह गई. इस दौरान लाखपुरी के पास कुछ लोगों ने विमल अंभोरे की लाश नदी से बाहर निकाल ली,जबकि सारीका की तलाश जारी है