महाराष्ट्र बचाओ आंदोलन: सरकार के निषेध में काला फलक

अमरावती. कोरोना संकट से निपटने में राज्य सरकार पर विफल होने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने शुक्रवार को महाविकास आघाड़ी सरकार के खिलाफ “मेरा आंगन ही रणांगन, महाराष्ट्र बचाओ आंदोलन” किया. राज्यस्तरीय आंदोलन के तहत जिले के प्रत्येक तहसील में तथा शहर के विभिन्न इलाकों में भाजपाईयों ने निषेध व्यक्त किया. इसी क्रम में ग्रामीण जिलाध्यक्ष निवेदिता चौधरी के नेतृत्व में जिलाधीश कार्यालय पर सरकार के विरोध में नारेबाजी कर निषेध में काला फलक लगाया गया. इस समय पूर्व कृषिमंत्री डा.अनिल बोंडे व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे.

भाजपा कार्यालय पर प्रदर्शन
राजापेठ स्थित भाजपा शहर कार्यालय पर भी भाजपाई द्वारा काले मास्क व निषेध बैनर से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया. इस समय शहर जिलाध्यक्ष किरण पातुरकर, पूर्व पालकमंत्री डॉ.सुनील देशमुख, महापौर चेतन गावंडे, प्रा.रवी खांडेकर, जयंत देहणकर, नगरसेवक तुषार भारतीय, प्रा.दिनेश सुर्यवंशी, स्थायी समिति सभापति राधा कुरील, सुनील काले, गजानन देशमुख, राजेश अखेगावकर, दीपक पोहेकर आदि उपस्थित थे.

471 बूथ पर आंदोलन
भाजपा शहर इकाई के अनुसार शहर के 7 मंडल के 471 बूथ के 4,000 स्थानों पर लगभग 16,000 नेता व कार्यकर्ताओं ने काले फिते, मास्क व काले कपड़े पहनकर राज्य सरकार का निषेध व्यक्त किया. आंदोलन में युवाओं और महिलाओं ने भी सहभाग किया.