MURDER

    शिरखेड़. मोर्शी रोड निंभी ग्राम के पास संदिग्ध अवस्था में मिली लाश लुटपाट के लिए हत्या का नतीजा पाई गई. मृतक की शिनाख्त ट्रक चालक के रूप में हुई है. इस ट्रक चालक की गला घोंटकर हत्या के बाद चेहरा पत्थर से कुचल दिया गया. जिसके बाद ट्रक से 17 लाख रुपए का सोयाबीन लुटकर हत्यारे खाली ट्रक को नांदगांव पेठ में छोड़कर भाग गए. मृतक नंदकिशोर उईके (35, छिंदवाड़ा,मध्यप्रदेश) है. इस तरह शिरखेड़ पुलिस ने रहस्यमय हत्याकांड़ की पहली गत्थी सुलझा ली है. यह लूट व हत्याकांड अंजाम देने वाले गिरोह का सुराग लगाने में पुलिस जुट गई है.  

    रविवार की रात सीसीटीवी कैमरा में कैद

    नंदकिशोर उईके मूलतः मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा निवासी था. वह अकेले ही ट्रक चलाता था. जिसके साथ कोई क्लीनर भी नहीं रहता. उसके अकेलेपन का लाभ उठाकर आरोपियों ने हत्या को अंजाम दिया. 5 जून को नंदकिशोर उईके ने अकोला से नागपुर के लिए ट्रक में सोयाबीन का माल भरा था. जिसे लेकर अकोला से नागपुर की ओर रवाना हुआ था.

    रविवार 5 जून की रात 11 बजे नांदगांव पेठ टोल नाका क्रास किया, लेकिन नांदगांव पेठ से ट्रक आगे नहीं बढ़ा. इसी दौरान आरोपियों ने उसकी हत्या कर लाश को निंभा ग्राम के सीमेंट रोड से सटे बैरिकेट्स के पास जंगल की झाडियों में फेंक दिया. सबूत मिटाने के उद्देश्य से उसके चेहरे को पत्थर से कुचल डाला. आरोपियों ने नांदगांव पेठ के पास ही ट्रक से सोयाबीन दूसरे ट्रक में लोड़कर फरार हो गए.  

    नांदगांव पेठ में खाली मिला ट्रक

    शिरखेड़ पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या व सबूत मिटाने की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. पुलिस ने नांदगांव पेठ से खाली ट्रक जब्त किया है. 5 जून रात 11 बजे अंतिम बार नंदकिशोर उईके को नांदगांव पेठ टोल नाका पर देखा गया था, जबकि 8 जून की सुबह 7 बजे निंभा ग्राम के पुलिस पाटिल को उसकी लाश मिली. इन 50 घंटों के भीतर लुटेरों ने हत्या व लूट को अंजाम दिया है. सोयाबीन लुटकर हत्या करने वाले गिरोह को पुलिस तलाश रही है. शिरखेड़ पुलिस के साथ एलसीबी की 2 टीमें हत्यारों की तलाश में हैं, लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिल पाई है.

    पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना

    इससे पहले भी जिले में ट्रक से सोयाबीन लुटने के लिए 2 बार डबल मर्डर की घटनाएं हो चुकी है. वर्ष 2010 में तत्कालीन सीपी अमितेशकुमार के कार्यकाल में इतवारा से चित्रा चौक के बीच सोयाबीन के लिए डबल मर्डर किया गया था. वहीं 6 नवंबर 2015 को औरंगबाद-नागपुर एक्सप्रेस हाइवे तलेगांव दशासर के उसलगव्हान के पास चालक फिरोज खान व क्लीनर सलीम खान (बल्लारपुर, चंद्रपुर) की हत्या कर लाखों की सोयाबीन लूटी थी. जिले में फिर एक बार इस घटना की पुनरावृत्ति हुई है.