कोरोना पर काबू पाने में राज्य सरकार नाकाम, लूट रोकने केंद्र एक्सकार्ट टीम गठित करें

अमरावती. कोरोना संक्रमण में महाराष्ट्र टाप पर पहुंच गया है. इस महामारी पर नियंत्रण पाने में राज्य सरकार नाकाम हो गई है. सरकारी अस्पतालों में मरीजों को बेड तक नहीं मिल पा रहे है. निजी अस्पतालों में मरीजों की आर्थिक लूट हो रही है. इस लूट को रोकने के लिए केन्द्र सरकार एक एक्सकार्ट टीम गठित करें. यह मांग सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिडला से की. इस बारे में विस्तृत निवेदन भी स्पीकर को सौंपा है. 

घर में ही दम तोड़ रहे निर्धन रोगी 
सांसद नवनीत ने बताया कि कोरोना ने कोहराम मचा दिया है. देश में महाराष्ट्र की स्थिति अत्यंत गंभीर हो गई है. सरकारी अस्पतालों में बेड, वेंटीलेटर व आक्सजीन तक की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है. 20 लोगों की क्षमता वाले आयसीयू में 30 से 40 लोगों को रखा जा रहा है. निजी अस्पतालों में भी यही हाल है. पूरे महाराष्ट्र के हर जिले में लगभग 10 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित किए गए है.

जो काफी कम है. यह संख्या बढ़ाकर 50 प्रतिशत तक की जाए. यह मांग भी उन्होंने की. निजी अस्पतालों में मनमाने बिलों पर लगाम लगाने के लिए केन्द्र सरकार बिलों की मर्यादा तय करें. ताकि गरीब मरीज इलाज करवा सके. गरीब मरीज इलाज के अभाव में घर में ही दम तोड़ रहे है. 

पीएम केयर फंड से दो मदद
उन्होंने बताया कि आने वाले 10 दिनों में मरीजों की संख्या और तेजी से बढ़ने की संभावना है. एसे में केन्द्र सरकार द्वारा राज्य के लिए पीएम केयर फंड में से आक्सीजन यूनिट, वेंटीलेटर, पीपीई कीट, एम्बूलेंस, सेनिटायजर आदि उपलब्ध करवाएं.