paddy centers

    अमरावती. आसमानी व सुल्तानी संकट से किसानों की मुसीबत लगातार बढ़ रही है. गत 5 वर्षों से कृषि अउपज से जुझते हुए किसानों की आर्थिक हालत गंभीर हो गई है. लेकिन इसके बाद भी किसी तरह हिम्मत बांधकर किसान खेति कार्य में जुटा है. पर अब कृषि माल चोरी होने के संकट से परेशान है. चार माह के परिश्रम के बाद तैयार हुई फसल जब काट कर बाजार में लाने की तैयारी में  किसान हैं तो चोर इस कृषि माल पर ही हाथ साफ करने में जुटे हैं. बुधवार को 1 दिन में 3 ऐसी ही चोरी  की शिकायत दर्ज हुई है. जिससे किसान बे‍हाल है. 

    मंडी ले जाने पहले ही माल आधा

    शिरखेड़ के राजुरवाड़ी खेत शिवार 9 स्थित सुरेश मोहनलाल टावरी के खेत में तैयार चना बेचने के लिए लिए तैयार था. इन 26 बोरे चने में 2 बोरे चने आरोपियों ने चुरा लिये. इस मामले में टावरी ने थाने में शिकायत दर्ज करवायी है. जिसमें उन्होंने बताया है कि चना कटाई व थ्रेशिंग के बाद उन्होंने बेचने के लिए मंडी ले जाने हेतु रखा. लेकिन इसमें से 2 बोरे चना चोरी हो गया. इस मामले में उन्होंने लक्ष्मण धुर्वे, किसान धुर्वे, गोपाल मेघरासे व विनोद पाटिल पर संदेह जताया है.

    इसी तरह पथ्रोट के शिंदी गांव में किसान देवानंद गजभिए के खेत से मंगलवार की रात अज्ञात आरोपियों ने चने के 6 कट्टे चोरी कर लिए. उनके खेत में इस बार चना बुआई हुई. कुल 80 कट्टे चना उत्पादित हुआ. लेकिन इसमें से लगभग 14000 रुपए मूल्य का माल चोरी हो गया. पहले की कृषि उपज में मुनाफे की उम्मीद न के बारबर रहती है. उस पर तैयार माल चोरी होने से किसानों चूना लग रहा है. 

    दुबले पर दो आषाढ़ वाली स्थिति

    लोणी पुलिस थाना अंर्तगत आनेवाले शिरिष प्रताप ढेपे के खेत में रखे चने की फसल में से कुल 9 कट्टे चना चोरी हो गया. उनके खेत में केवल 13 कट्टे चना ही उपजा था. उसमें से 9 कट्टे माल चोरी हो जाने से उसकी लगभग पूरी उपज हाथ से निकल गई. इस मामले में  उन्होंने बुधवार को थाने में शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया है कि उन्होंने मंगलवार को फिर खेत में पारधी समाज के 4 लोगों को देखा उनके उनके हाथ में चने का कट्टा था. जब उन्होंने आरोपियों को पकड़ने का प्रयास किया तो आरोपी कट्टा वहीं फेंककर भाग गए.

    इनमें से एक आरोपी बब्बू भोसले वाकापुर से मिला. उनकी बाइक एमएच 27 एएल पुलिस ने जब्त की है. एक ओर जहां किसान मौसम की मनमानी से किसान परेशान है. वहीं फसल कर्ज माफी से वंचित, बीमा मुआवजे से वंचित है. उस पर अब कृषि माल चोरी होने से दुबले पर दो आषाढ़ वाली नौबत किसानों पर आ गई है. 

    संज्ञान लेकर कार्रवाई

    कृषि माल चोरी होने की घटनाओं का संज्ञान लेकर तुरंत इस दिशा में सख्त कार्रवाई की जाएगी. पुलिस को और चौकन्ना किया जाएगा. सुरक्षा की ओर और अधिक ध्यान देंगे. – डा. हरी बालाजी, एसपी