ई-कॉमर्स कंपनियों पर ठोस कार्रवाई करें, व्यापारियों की पीएम से गुहार

अमरावती. ई-कॉमर्स कंपनियों पर एफडीआई नीति और अन्य कानूनों का सरेआम उल्लंघन का आरोप लगाते हुए चेंबर ऑफ अमरावती महानगर मर्चेंट्स एंड इंडस्ट्रीज तथा अमरावती चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज ने कडी कार्रवाई की मांग की है. इस संदर्भ में मंगलवार को दोनों संगठनों द्वारा जिलाधीश के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निवेदन भेजा गया. जिसमें कहा गया कि नियमो का निरंतर उल्लंघन करते हुए भारत के ई-कॉमर्स व्यवसाय और करोड़ों व्यापारियों द्वारा खुदरा व्यापार करते हुए अपनी रोजी रोटी कमाने को बर्बाद करने तथा देश के रिटेल व्यापार पर अपना  एकाधिकार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है.

उनके खिलाफ कई शिकायतें करने के बावजूद उनके खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है. इन पर ठोस कार्रवाई का देश का खुदरा बाजार बचाने की गुहार पीएम से लगाई गई है. निवेदन देते समय चेंबर ऑफ अमरावती महानगर मर्चेंट्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष सुरेश जैन, सचिव घनश्याम राठी तथा अमरावती चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विनोद कलंत्री, सचिव सुरेश देशमुख, श्याम शर्मा, पवन भूतडा, संदीप खेडकर आदि उपस्थि थे. 

‘अत्निनिर्भर’ अभियान को मजबूत करें

ई-कॉमर्स कंपनियों पर ठोस कार्रवाई नहीं होने से देश भर के छोटे व्यापारी के लिए ऑनलाइन व्यापारिक गतिविधियों से जुड़ने तथा डिजिटल कॉमर्स  “आत्मनिर्भर” बनने के लक्ष्य में रूकावट बन गया है. इसी वजह से “लोकल पर वोकल ” और “अत्निनिर्भर भारत” अभियान को मजबूत करने ठोस कदम उठाने की आवश्यकता होने की मांग भी निवेदन में की गई.