rain
File Photo : PTI

    तलेगांव दशासर. शनिवार की दोपहर 2.30 से 3 बजे के दौरान अचानक आयी तूफानी बारिश ने कहर बरपाया. गांव के वार्ड नंबर 4, 6,1  में कई घरों की छतें उड गई. उसी प्रकार क्षेत्र के विशालकाय पीपल, बरगद के पेड़ जड़ से उखड़ कर धराशाही हो गए. बिजली के पोल क्षतिग्रस्त होने के साथ बिजली तार टुट कर बिखर गए. एक मवेशी की मौत भी हुई. इस अंधड़ व तूफानी बारिश से यहां लाखों के नुक़सान का अनुमान है.

    कई क्षेत्रों में नुकसान

    बादलों की गर्जना के साथ अचानक हुई इस बेमौसम बारिश ने जमकर उत्पात मचाया. हवा की रफ्तार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकती है कि यहां के वार्ड नंबर 4 की पानी की टंकी के पास 80-90 वर्षों पुराने बरगद का पेड़ भी जड़ से उखड़ गया. जिसके कारण वहीं से गुजरती बिजली की लाइन के तार भी उसके चपेट में आने से टूट गई, तो एक मवेशी के दबने से मौत हो गई.

    उसी वार्ड के ज्ञानेश्वर चन्ने व मुकेश चन्ने के घर के सामने के पीपल का पेड़ भी इस अंधड़ हवा से धराशाही होकर उनके घर पर गिर पड़ा. जिससे उनके घर के टिन के पत्रे के साथ ही किचन, बेड रूम पूरी तरह तहस नहस हो बया. पास के शरद तायड़े, निरंजन कांबले के घरों की दीवारों व छतों का भी भारी नुक़सान हुआ है. उसी तरह वार्ड नंबर 6 के रमेश खंडारे के घर की भी टिन पत्रों कि छत को भी नुकसान होकर घर की दीवारें भी क्षतिग्रस्त हुई.

    शेख चाँद बक्कर क़साब के घर व गोदाम के पत्रे, टिन भी उड़ गए तो उसमें रखी 15, 20 क्विंटल प्याज़ भी बारिश में भीग गया. वकील क़ुरैशी के घर के टिन भी उड़ गये. यहां के साप्ताहिक बाजार में लोहे के बिजली के पोल व सीमेंट पोल भी अंधड में टूटकर धाराशाही हो गये.

    इस समय तलेगांव ग्राम पंचायत की सरपंच मीनाक्षी ठाकरे, उपसरपंच रमाकांत इंगोले, सदस्य शाम डेहनकर, मनोज आठवले, सुचिता चकधरे, सुषमा नंदागवली के साथ ही जिला परिषद सदस्य अनिता मेश्राम, पंचायत समिति सदस्य नरेंद्र रामावत के साथ पूर्व सदस्य ग्रापं रियाज़ खान भूरे खान,राजस्व विभाग के कर्मचारी आदि ने क्षति ग्रस्त घरों व परिसर का मुआयना किया. बिजली विभाग भी ग्राम की बिजली व्यवस्था सुचारू करने में लगे हुए हैं.