वरुड-मोर्शी का संतरा जाएंगा बांगलादेश

  • संतरा उत्पादकों के आए अच्छे दिन

वरुड. विदर्भ का कैलिफोर्निया माने जाने वाले वरुड मोर्शी के खट्टे, मिठे रसीले संतरे अब बांगलादेश तक पहुंचेगे. जिससे किसानों में अब उत्साह का माहौल है. गत् 5 दशकों से यह क्षेत्र एक संतरा प्रक्रिया प्रकल्प के लिए तरस रहा है. यातायात पर होने वाले खर्च और समय पर फल ग्राहकों तक न पहुंचने से किसनों को नुकसान हो रहा था. लेकिन अब विदर्भ पुत्र नितिन  गडकरी की पहल से  संतरा नगरी का संतरा अब रेलवे से भेजा जाएगा. देश के कोने कोने के साथ ही बांगलादेस भी संतरा माल पहुंचेगा. जिससे अब संतरा उत्पादकों में उत्साह संचारित हुआ है. 

हरी मिर्च के लिए भी लगाएगें गुहार

वरुड तहसील  में संतरे के साथ ही हरी मिर्च का भी बडे पैमाने पर उत्पादन होता है. राजुरा बाजार की हरी मिर्च की अंर्तराष्ट्रीय बाजार में भी मांग है. लेकिन परिवहन की व्यवसाथ न होने से मिर्च उत्पादकों को माल भेजने मे दिक्कत हो रही है. संतरे की तरह मिर्च को भी रेल  से अन्य राज्यों में भेजा जाए इस मांग को लेकर जल्द ही मिर्च उत्पादक पूर्व कृषि मंत्री डा. अनिल बोंडे के नेतृत्व में केन्द्रीय मंत्री गड़करी से मिलेंगे. 

सच्ची स्वप्न पूर्ति

सपने जैसा लगने वाली नरखेड रेलवे लाईन कड़े प्रयास के बाद पूरा हुआ है. केन्द्रीय मंत्री  नितिन गडकरी के नेतृत्व में यह स्वप्न पूर्ति हुई है. संतरे के साथ ही अन्य महत्वपूर्ण फसलें रेल मार्ग से पहुंचायी जा सके इसके लिए हम प्रसाय है. 

डा. अनिल बोंडे, भाजपा किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष

किसानों के लिए महत्वपूर्ण निर्णय

वरुड का संतरा देश के अन्य राज्यों सहित विदेश में भेजा जा सकेगा. रेल शुरु होने से समय की बचत होगी. परिवहन पर खर्च कम होगा. हरी मिर्च के लिए भी यह सुविधा मिले तो इसका भी लाभ मिलेगा. यह किसानों के लिए आनंद का क्षण है.

दुर्वास बहुरुपी पाटील

इसी निर्णय का लंबे समय से था इंतजार

रेलवे मार्ग शुरु हो गया लेकिन संतरे का परिवहन कब होगा इसका हम सभी को इंतजार था. आखिर वह दिन आ ही गया है. किसानों की राहत मिली है. 

सचिन डाफे, संतरा उत्पादक

किसान व व्यापारी दोनों को लाभ

इस ट्रेन के शुरु होने से समय की बचत होगी. किसानों और व्यापारियों को इसका लाभ मिलेगा. किसान स्वयं भी अपना माल भेज सकते है. सिर्फ इस यंत्रणा में सुसुत्रता की जरुरत है.

– लोकेश अग्रवाल, संतरा व्यापारी