90 Q. in the division Sowing settlement, Yavatmal topper, Akola lagging behind

परतवाडा.  दमदार बारिश के साथ ही किसानों ने खरीफ के मौसम की बुआयी शुरू कर दी. लेकिन बोये गए सोयाबीन के बीज अंकुरित ही नहीं हुए. ऐसी शिकायत सैकड़ों किसान कृषि विभाग से कर रहे हैं. ग्रीनगोल्ड, कोहिनूर, विक्रांत व महाबिज, करिलमा जैसे ब्रान्ड के बीज खेतों में खराब हो चुके हैं, जिससे पहले ही आर्थिक रूप से तंगहाल किसानों पर दोबारा बुआयी का संकट गहराया गया है. कृषि विभाग की शिकायत निवारण समिति ने इन खेतों‍ में जाकर मुआयना किया.

किसानों पर दुबारा बुआई की मुसीबत
पहले ही कृषि माल का दाम न मिलने, प्राकृतिक आपदा व लॉकडाउन के कारण माल बिक्री में आयी बाधा के चलते किसान परेशान है. बुआई के लिए किसी तरह कर्ज लेकर उन्होंने बीज, खाद की खरीदी की. लेकिन बीज बोगस निकलने से उन पर संकट छा गया है. तहसील के पथ्रोट, कविठा, असदपुर, चमक, काकडा, बोरगांव, क्षेत्रों के किसानों ने कृषि कार्यालय में शिकायत दी. नामांकीत कंपनी महाबिज ,ग्रीनगोल्ड,, करिलमा के बीज अंकुरित न होने से किसानों में रोष है.

दोषियों पर मामले दर्ज हो
तहसील में अनेक खेतों में सोयाबीन के बीज अंकुरित नहीं हुए. यह गंभीर बात है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दोषी कंपनियों के खिलाफ मामले दर्ज किए जाए.-सुधिर रसे, पथ्रोट

कृषि विभाग ले दखल
सरकार द्वारा किसानों के लिए विविध योजनाएं चलाने के बावजूद भी किसानों को अच्छे बीज तक नहीं दिए जा रहे हैं. जानबुझकर घटिया बीज लोगों के मत्थे मढ़े जा रहे हैं. इस मामले में कृषि विभाग तुरंत दखले ले-नामदेव तनपुरे, कविठा

खेतों का किया मुआयना
किसानों की शिकायत के बाद हमने तुरंत खेतों का मुआयना किया है. जल्द ही इस मामले में वरिष्ठों को रिपोर्ट भेजी जाएगी. प्राथमिक अवलोकन में बीज घटिया होने की बात दिखाई दी है-प्रफुल्ल सातव, अध्यक्ष तक्रार निवारणी समिति