File Photo
File Photo

    • 10 दिनों में 6 वकीलों की आकस्मिक मौत, 2 जज संक्रमित

    अमरावती. जहां सभी सरकारी विभागों में सीमित क्षमता के साथ कामकाज जारी रखने के निर्देश है, वहीं स्थानीय जिला व सत्र न्यायालय में रोजाना सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तथा 2.45 बजे से शाम 5 बजे तक दो सत्रों में पूरी क्षमता के साथ प्रत्यक्ष कामकाज किया जा रहा है. जिला कोर्ट की सभी अदालत में इन दिनों जबरदस्त भीड़ का माहौल है. 

    अन्य बीमारी के मरीजों को खतरा

    वहीं विगत 10 दिनों में जिला कोर्ट से वास्ता रखने वाले 6 वकीलों की अलग-अलग कारणों से मौत हो चुकी है. इन वकीलों की मौत के पीछे हार्टअटैंक, हाइ बीपी व शुगर जैसी वजहें बताई जा रही है, किंतु अपृष्ठ जानकारी के मुताबिक इनमें से कुछ संक्रमित थे. संक्रमण व अन्य बीमारी के कारण उनकी जान गई है.

    इसी तरह इस समय जिला कोर्ट के एक सेशन जज व एक प्रथम श्रेणी न्याय दंडाधिकारी भी कोरोना संक्रमण की चपेट में है. कोरोटाइन किए गए है, ऐसे में कहा जा सकता है कि यदि जिला कोर्ट में इसी तरह भीडभाडवाली स्थिति रहीं और यहां पर संक्रमितों की संख्या बढ़ी तो एक बार फिर जिला कोर्ट को कुछ समय के लिए बंद करना पड़ सकता है. 

    सख्त कदम उठाना जरुरी

    कोर्ट परिसर में काफी अधिक भीडभाड होने लगी है. कोर्ट भी पूरा समय 100 फीसदी क्षमता के साथ काम कर रहा है. ऐसे में वकीलों की भी पूरे समय तक कोर्ट में रहने की मजबूरी है. लेकिन इन दिनों जिस तरह से समूचे शहर में कोविड संक्रमण का खतरा फैल रहा है. उसे देखते अदालत परिसर में भी संक्रमण फैलने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता.