Vaccination
File Photo

    •  शहर में अब तक 1.20 लाख को वैक्सीन : रोड़े

    अमरावती. दूसरी लहर में कोरोना मरीजों की संख्या रिकार्ड तोड़ बढ़ती जा रही है ऐसे में तीसरी लहर का खतरा भी मंडराने लगा है. जिसके चलते महानगर पालिका ने नागरिकों के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने एक्शन प्लान बनाना आरंभ कर दिया है. हालांकि तीसरी लहर को रोकने का काम केवल वैक्सीनेशन ही कर पाएगी.

    इसलिए शहर में अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीनेशन का काम पूर्ण करने का प्रयास प्रशासन कर रहा है. हालांकि अभी तक 1 लाख 20 हजार लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. सोमवार से 18 से 44 वर्ष आयु गुट के मरीजों के वैक्सीनेशन का काम शुरू होगा. जैसे-जैसे वैक्सीन मिलेगी, वैसे-वैसे नागरिकों को उपलब्ध कराई जाएगी. ऐसा विश्वास निगमायुक्त प्रशांत रोड़े ने व्यक्त किया है.

    होस्टल, मंगल कार्यालय में होगी व्यवस्था 

    नवभारत से चर्चा करते हुए कहा कि दूसरी लहर में ही कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. लोगों द्वारा मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल किये जाने के साथ त्रिसूत्री नियमों का लगातार पालन किया जाता है तो मरीजों की संख्या कम हो सकती है. प्रशासन को नागरिकों के सहयोग की आवश्यकता है.

    इसीलिए नागरिकों से बार-बार घर से बाहर नहीं निकलने की आह्वान किया जा रहा हैं. बावजूद इसके यदि कोरोना मरीज बढ़ते हैं तो कोविड केयर सेंटर के लिए मंगल कार्यालय, होस्टल्स में  बेड की व्यवस्था की जाएंगी. दूसरी लहर में बेड और आक्सीजन की कमी नहीं है. रेमडेसिविर का इस्तेमाल भले ही फूंक फूंक कर किया जा रहा है.

    रफ्तार रोकना नागरिकों के हाथ

    प्रशासन द्वारा लगातार कार्रवाई करने के बाद भी नागरिक समझने को तैयार नहीं है. मास्क का इस्तेमाल भी नहीं किया जा रहा. इसीलिए कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है. जिस क्षेत्र में पहली लहर के दौरान कोरोना मरीज पाजिटिव आए थे. उस क्षेत्र में दूसरी लहर का खतरा काफी कम है, लेकिन इस क्षेत्र में तीसरी लहर का खतरा अधिक होने की संभावना है. देखा जाए तो स्लम एरिया से अधिक कालोनी क्षेत्र की एरिया से मरीजों के आंकड़े बढ़ रहे हैं. इसीलिए नागरिकों ने भी जीवन आवश्यक वस्तुओं से अधिक जीवन को महत्व देना चाहिए.