बंद के लिए कड़ा पुलिस बंदोबस्त – शहर व ग्रामीण में पड़ेगा प्रभाव

अमरावती. केंद्र सरकार को तीनों कृषि कानून रद्द करने व एमएसपी को बहाल रखने की मांग के लिए किसान नेताओं ने मंगलवार को 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किया है. मंगलवार को सुबह से दोपहर तक समूचे देश में चक्काजाम किया है. किसानों के भारत बंद को भाजपा छोड़ लगभग सभी पार्टी व संगठनों से समर्थन मिल रहा है. जिससे भारत बंद कड़ा होने की संभावना के चलते शहर व ग्रामीण पुलिस ने भी तगड़ा सुरक्षा बंदोबस्त लगाया.

SRPF व RCP कंपनियां तैनात 

भारत बंद के दौरान कानून व सुव्यवस्था बनाए रखने व अनुचित घटना न हो इसके लिए थानास्तरीय बंदोबस्त के साथ एसआरपीएफ व होमगार्ड का अतिरिक्त बंदोबस्त लगाया है. आरक्षित फोर्स के रुप में आरसीपी व क्यूआरटी दल की पेट्रोलिंग लगाई गई है. शहर में प्रमुख चौक-चौराहों पर 1 अधिकारी के साथ 10 कर्मचारी तैनात किए जा रहे है, जबकि थाना बंदोबस्त के साथ 140 होमगार्ड, एसआरपीएफ की 1 कंपनी, आरसीपी कंपनी व क्यूआरटी के 10 दल गठीत किये है. वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में 2,000 कर्मियों के साथ 1 एसआरपीएफ कंपनी, क्यूआरटी व आरसीपी दल को बंदोबस्त में तैनात किया है. भारत बंद के दौरान कानून व सुव्यवस्था बनाए रखने की समर्थन करने वाले सभी संगठनों से पुलिस ने अपील की है. 

मुस्लिम क्षेत्र रहेगा शत-प्रतिशत बंद

किसान आंदोलन के समर्थन में शहर के मुस्लिम बहुल क्षेत्र की सभी पार्टी व संगठनों ने मंगलवार को आधा दिन व्यापार व प्रतिष्ठानें बंद रखने का निर्णय लिया है. सोमवार को इस बारे में भी सभी पार्टी व संगठन के पदाधिकारियों ने मीटिंग लेकर एकजुटता के साथ भारत बंद को सफल बनाने का फैसला लिया है. जिसके चलते दोपहर 3 बजे तक इस क्षेत्र के मार्केट, प्रतिष्ठान, दूकान शत-प्रतिशत बंद रहेगी. जिसका ऐलान सोमवार की देर शाम किया है.