File Photo
File Photo

अमरावती. सुपर स्पेशालिटी के कोविड अस्पताल में 2 कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत से संतप्त रिश्तेदारों ने जमकर हंगामा मचाया. मृतक की जानकारी ना देने व चेहरा दिखाने की जिद्द पर अडे परिजनों ने डाक्टरों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर आक्रोश जताया. लेकिन ऐन मौके पर पहुंची गाडगे नगर पुलिस ने उन्हें शांत कर दिया. जिससे बडी अनहोनी होने से बच गई. शुक्रवार की देर रात व शनिवार की सुबह हुई इन घटनाओं से सुपर स्पेशालिटी हास्पीटल परिसर में हड़कंप मचा था.

मृतक की नहीं दी जानकारी
नागपुर जिले के थड़ी पवनी में रहने वाले 80 वर्षीय वृध्द की हालत बिगडने से उन्हें 18 सितंबर को वरुड में भर्ती किया. जहां रिपोर्ट पॉजिटिव आने से उन्हें सुपर स्पेशालिटी के कोविड अस्पताल में रेफर किया. 18 सितंबर की रात 9 बजे एक रिश्तेदार मरीज के लिए डब्बा लेकर आया. मरीज का पूछने पर डाक्टर व कर्मियों ने सही जवाब नहीं दिया. कुछ समय के बाद उसे मरीज की मौत हो जाने की खबर मिली. इससे वहां रिश्तेदार इकठ्ठा हो गए.

रोगी की मौत की जानकारी पहले क्यो नहीं दी इस बात से रिश्तेदार व डाक्टरों के बीच शाब्दीक विवाद हो गया. सूचना पर गाडगे नगर पुलिस वहां पहुंची. पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन रिश्तेदारों ने डाक्टरों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर रोष व्यक्त करते रहे. आखिरकार मध्यरात पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद शनिवार की सुबह मृत्यूदेह का अंतिम संस्कार करने रवाना हुए.

पीपीई किट पहनकर देखा चेहरा
इसी तरह शनिवार को तडके सुबह जेल क्वार्टर परिसर में रहने वाली 36 वर्षीय महिला की अचानक तबीयत बिगड गई. कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने से उसे सुपर स्पेशालिटी के कोविड अस्पताल में भरती किया. यहां सुबह 5 बजे महिला ने दम तोड दिया. सूचना पर रिश्तेदार वहां पहुंचे. मृतक के अंतिम दर्शन करने के लिए रिश्तेदारों ने आग्रह किया, लेकिन पार्थिव प्लास्टिक बैग में पूरी तरह से पैंक होने से डाक्टर व कर्मियों ने उन्हें भीतर आने से भी इंकारकर दिया, जिससे रिश्तेदारों ने जमकर हंगामा मचाकर आक्रोश जताया.

फिर से डाक्टर व कर्मियों से शाब्दीक विवाद होने की खबर पर गाडगे नगर पुलिस वहां पहुंची. पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया. मृतक महिला के अंतिम दर्शन करने की जिद्द पर अड़े रिश्तेदारों में से एक सदस्य को पीपीई किट पहनाकर दर्शन कराए. जिसके बाद रिश्तेदार मृत्युदेह को अंतिम संस्कार के लिए ले गये.

तत्काल जानकारी देने की सूचना
80 वर्षीय वृध्द की शुक्रवार की रात मौत हो गई थी, लेकिन रात का समय होने से रिश्तेदारों को जानकारी देने में समय लगा,इसीलिए रिश्तेदारों ने हंगामा मचा, कोरोना बाधित की मौत होने पर संबंधित रिश्तेदारों को तत्काल जानकारी देने की सूचना दी है, इसीलिए अब रिश्तेदारों से 1 से अधिक मोबाइल नंबर लेने की सूचना भी दी है, यदि एक नंबर बंद रहा तो दुसरे पर जानकारी दे सके- डा.शामसुंदर निकम, जिला शल्य चिकित्साक

पुलिस के बीचबचाव से मिटा विवाद
कोरोना बाधित व्यक्ति की मौत होने पर अस्पताल ने जानकारी नहीं दी. जिससे रिश्तेदारों ने हंगामा मचा. डाक्टर व रिश्तेदारों के बीच शाब्दीक विवाद शुरु होने की खबर मिलते ही पुलिस वहां पहुंची. पुलिस ने बिच बचाव कर रिश्तेदारों को समझाकर विवाद निपटाया.- मनीष ठाकरे, पुलिस निरीक्षक, गाडगे नगर