China's arbitrary, visa will be granted only after taking Chinese vaccine for Corona Virus
Representative Image

  • जिला प्रशासन जुटा तैयारी में 

अमरावती. लगभग 1 वर्ष से देश-दुनिया को हैरान-परेशान कर देने वाले कोरोना के खात्मे का समय आ गया है. बहुप्रतीक्षित वैक्सीन महाराष्ट्र में ‍उपलब्ध होने जा रही है. राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार वैक्सीनेशन प्रोग्राम का नियोजन आरंभ हो चुका है. पहले चरण में जिले के 17000 हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण होगा. इसके लिए जिला प्रशासन द्वार सभी हेल्थ वर्कर्स की सूची वैक्सीन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर तैयार विशेष  साफ्टवेयर में अपलोड की करने का काम जारी है. यह टीकाकरण कार्यक्रम 4 चरणों में चलेगा. 

साफ्टेवेयर में डाटा एंट्री शुरू

जल्द ही देश को कोरोना से मुक्ति मिलने के मार्ग प्रशस्त हो रहे हैं. जल्द ही वैक्सीन आने की खबर ने लंबे समय बाद लोगों को राहत दी है. पहले चरण में स्वास्थ सेवकों के टीकाकरण के तहत सभी सरकारी व निजी अस्पतालों के डाक्टर्स, नर्स, परिचारिकाओं, स्वास्थ कर्मियों को वैक्सीन दी जाएगी. इसके बाद दूसरे चरण में पुलिस, राजस्व व होमगार्ड, तीसरे चरण हाइरिस्क व 50 वर्ष से अधिक आयु वाले लोग तथा चौथे चरण में आम नागरिकों को वैक्सीन दी जाएंगी. विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों का टीकाकरण होगा. 

बूथ निहाय होगा टीकाकरण

स्वास्थ विभाग के डॉक्टर, परिचारिका व अन्य कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन द्वारा बूथ तैयार किए जाएंगे. टीकाकरण पथक में 5 लोगों का समावेश होगा. कोरोना टीकाकरण के चलते अन्य टीकारकरण को बाधा ना पहुंचे, इसके लिए अतिरिक्त मैन पावर उपलब्ध करवाया जाएगा. टीकाकरण के लिए चुनाव मतदान की तरह ही इस टीकाकरण के लिए बूथ की व्यवस्थाएं होगी. बूथ पर उपलब्ध सूची के अनुसार व पहचान पत्र दिखाने पर ही टीका दिया जाएगा. 

वैक्सीन के लिए पंजीयन अनिवार्य

चौथे चरण में आम नागरिकों को वैक्सीन लगाई जाएंगी. इसके लिए वेबसाइट व एप पर लोगों को अपना पंजीयन करना अनिवार्य होगा. जिसके तहत नाम, पता व आधार कार्ड अपलोड करने के बाद उन्हें मोबाइल पर वैक्सीन की तारीख व समय की सूचना दी जाएंगी. उसी के अनुसार यह टीकाकरण होगा.    

इस तरह होंगे प्रबंध

जिला सरकारी अस्पताल समेत 59 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) 14 ग्रामीण अस्पतालों, उपजिला अस्पतालों, 1 वैद्यकीय महाविद्यालय, 13 नागरिक स्वास्थ्य केंद्र, टीकाकरण के लिए खोलें जाएंगे. जिले में 4,481 वैक्सीन करियर, 134 डीप फ्रीजर, 133 आइसलाइन रेफ्रिजरेटर, 255 कोल्ड बाक्स जैसी यंत्रणा सज्ज की जा रही है. -डा. दिलीप रणमले, डीएचओ

पूर्व तैयारी के लिए बैठक 

कोरोना टीकाकरण के नियोजन के लिए 11 दिसंबर को बैठक ली गई. जिसमें जिलाधिकरी शैलेश नवाल व अन्य वरिष्ठ डाक्टर उपस्थित थे. बैठक में वैक्सीनेशन के पहले चरण को लेकर विविध स्तर पर नियोजन किया गया.- श्यामसुंदर निकम, जिला शल्य चिकित्सक

साफ्टवेयर में सूची की जा रही अपलोड़

कोरोना वेक्सीन के पहले चरण को लेकर नियोजन किया जा रहा है. हेल्थ वर्कर्स की सूची हमारे पास तैयार  है. इसे साफ्टे‍वेयर में अपलोड करने का काम जारी है. पहले चरण में सभी सरकारी व निजी स्वास्थ सेवकों का टीकाकरण होगा.-शैलेश नवाल, जिलाधिकारी

डेटा कर रहे अपलोड

अभी पांचों जिलों के मेडिकल स्टाफ का डेटा इकठ्ठा करने की प्रक्रिया शुरू है. यह डेटा कोविड-19 की वेबसाइट पर अपलोड की जाएंगी. जिसके बाद शेड्यूल्ड आने पर वैक्सीन की प्रक्रिया शुरू होगी. फिलहाल कोई शेड्यूल्ड नहीं आया है. -पीयूषसिंह, विभागीय आयुक्त