पोस्ट कोविड केयर सेंटर की प्रतीक्षा, कोरोना मुक्त मरीजों में अन्य शिकायतों के लक्षण

अमरावती. कोरोना महामारी तेजी से पैर पसार रही है, लेकिन कोरोनामुक्त होनेवालों की संख्या भी 11 हजार से अधिक हो गई है. इनमें कई ऐसे मरीज है, जिन्हे अन्य शारिरीक व मानसिक शिकायतों ने घेर रखा है, ऐसे मरीजों की ट्रीटमेंट या समुपदेशन के लिए पोस्ट कोविड केयर सेंटर की आवश्यकता है. कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों में फेफडे का इन्फेक्शन फायब्रोसिस के साथ अन्य शिकायतें भी देखी जा रही है. इन मरीजों को सांस लेने में तकलीफ, खांसी, घबराहट, थकावट के साथ निराशा की भावना दिखाई दे रही है. अनेक शहरों में इस प्रकार के सेंटर शुरु किए है. लेकिन जिले में अब तक एक भी सेंटर नहीं बना है. 

फॉलोअप से मरीजों का खयाल

आयुष मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइड पर पोस्ट कोविड मैनेजमेंट प्रोटोकॉल में बताया गया कि कोरोना बीमारी पर मात करनेवाले अनेक मरीजों में थकान, शरीर में दर्द, खांसी, गले में खराश, सांस लेने में कठिनाई सहित विभिन्न प्रकार के लक्षण पाए जा सकते है. जिससे उबरने के लिए गंभीर रुप से पीडितों को अधिक समय लग सकता है. इसके अलावा अनेक मरीज चिडचिडापन, भय आदि प्रकार के विभिन्न मानसिक बीमारियों के दौर से गुजर रहे है. ऐसे मरीजों को समुपदेशन की आवश्यकता है. वर्तमान में पोस्ट कोविड फॉलोअप प्रोटोकाल के तहत कोरोना मुक्त हुए मरीजों को स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा फोन पर संपर्क कर उनकी तबियत की जानकारी ली जाती है. लगभग एक पखवाडे तक हर 2-3 दिनों में मरीज को कॉल कर खैरीयत पूछी जाती है.

 

टीबी अस्पताल में निर्माण की तैयारी

जिला शल्यचिकित्सक डा.श्यामसुंदर निकम के अनुसार शहर के कैम्प स्थित सरकारी टीबी अस्पताल में पोस्ट कोविड केअर सेंटर का निर्माण किया जाएगा. हालांकि इसका अभी निर्णयभर हुआ है. इसे पूर्ण होने में एक माह का अवधि लग सकता है.

 

बाक्स

शीघ्र होगा सेंटर

स्वास्थ्य प्रशासन पोस्ट कोविड केयर सेंटर निर्माण में जुटा है. यह सेंटर टीबी अस्पताल में निर्माण करने पर विचार किया जा रहा है. यथाशीघ्र यह सेंटर निर्माण का प्रयास किया जा रहा है.

–       डा.श्यामसुंदर निकम, जिला शल्य चिकित्सक