Video: several places water logged in Mumbai in the first rain of monsoon, watch videos

    अमरावती. सोमवार को झमाझम बारिश ने शहर को पानी-पानी कर दिया. शहर के हृदय स्थलों में शुमार व प्रमुख व्यापारी क्षेत्र राजकमल, अंबापेठ, इतवारा बाजार में जल जमाव होकर दूकानों में बारिश का पानी घुसा. जिससे सर्वत्र भारी भागम-भाग मची. सभी नालियों में व नालों में बारिश के पानी के साथ बहकर आया कूड़ा-कचरा फंसने से पानी की निकासी अवरुद्ध होकर नालियों का पानी सड़कों से होकर बहता दिखा.

    रास्तों पर भारी जल जमाव के कारण लोगों के वाहन आधे पानी में डूबे. इस पहली दमदार बारिश ने महानगर पालिका प्रशासन के सभी प्रबंधनों की पोल खोल दी है. जिससे मनपा का स्वच्छता विभाग कितनी इमानदारी से काम करता है. इसका प्रमाण भी मिल गया है.

    प्रमुख क्षेत्र बने तालाब 

    शहर के सभी प्रमुख क्षेत्र सोमवार की झमाझम बारिश के चलते तालाब में तब्दील हो गए. लोगों को गंदे पानी के डबकों से राह निकालनी पड़ी. सर्वत्र जल जमाव व ट्राफिक जाम के चलते लोगों के लिए यह पहली ही दमदार बारिश आफत की बारिश साबित हुई. व्यापारी क्षेत्रों व प्रमुख मार्गों से होते हुए गुजरने वाली नालियों की सफाई ही ना किए जाने से बारिश के पानी को बहकर जाने की जगह ही नहीं रही. जिसके कारण ही सिटी के अधिकांश क्षेत्रों में चारों ओर पानी ही पानी भर गया. 

    नालों की अधूरी सफाई से रोडा

    महानगर पालिका प्रशासन हर वर्ष बारिश से पहले नालों की सफाई पर लाखों रुपए का खर्च करता है, लेकिन नाला सफाई के नाम पर केवल औपचारिकता ही निभाई जाती है. नालों से निकलने वाला गाद वहीं नालों के किनारे लगाकर छोड़ दिए जाने से पहली ही बारिश में यह गाद फिर नाले में समा जाता है, और नालियों की बाटम सफाई ना किए जाने के कारण नालियों का पानी नालों में बहते जाने के स्थान पर बस्तियों तथा व्यापारी क्षेत्रों में नुकसान पहुंचा रहा है. सोमवार को सिटी में सभी क्षेत्रों को अपनी चपेट में ले लिया था. जिससे मनपा प्रशासन से शहर की नालियां व नालों की बाटम सफाई करने की मांग की जा रही है.