रबी की फसलें चौपट कर रहे जंगली सूअर, किसान रात-रात भर दे रहे पहरा

चिखलदरा. इन दिनों खेतों में रबी की फसल लहलहा रही है. लेकिन जंगली सूअर खेतों में आतंक मचा रहे हैं. अपनी फसलों को बचाने के लिए किसान रात-रात भर जागकर खेतों में पहरा दे रहे है. वन विभाग इन आवारा सूअरों का बंदोबस्त करे यह मांग किसान कर रहे हैं. 

किसान की जान को खतरा

खरीफ की फसलों से हाथ धो चुके किसानों ने किसी तरह कर्ज बाजारी होकर रबी की बुआयी की. किसानों की पूरी उम्मीद अब इन्ही फसलों से हैं. चना, गेहुं, तुअर की फसलें खेतों में लहलहा रही हैं. लेकिन आवारा सूअर रात के समय इन खेतों में घुसकर फसलें खराब कर रहे हैं. सूअर फसलों रौंदकर जड़ों से पौधे तोड़ रहे हैं तो पेड़ पर लगे फुलों को भी चट कर रहे हैं. जिससे किसान परेशान है. अपनी फसलों को बर्बाद होता देख उनकी आंखों में आंसु है. किसान अपनी फसलों की सुरक्षा के लिए रात-रात भर जाग रहे हैं. दिन भर काम और रात को चौकीदारी से किसानों की सेहत प्रभावित हो रही है. 

योजना केवल दस्तावेज पर

वन्य पशुओं से फसलों को बचाने के लिए सरकार द्वारा तार की  कंपाउंड, सौर बिजली तार लगाने की योजना की गई थी. लेकिन योजना दस्तावेजों तक ही सिमित रह गई. जिससे किसानों को फसल बचाने के लिए परेशान होना पड़ रहा है. रात से समय जंगली सुअरों के साथ ही अन्य हिंसक पशुओं से उनकी जान को भी खतरा बन रहा है. किसानों ने वन विभाग से तुरंत इन जंगली सूअरों का बंदोबस्त करने की मांग की है. मेलघाट से जंगलों से से सटे यहां के किसानों ने वन विभाग के अधिकारियों को निवेदन दिया.