जायकवाडी बांध के 9 आपातकालीन दरवाजे खुले

औरंगाबाद. मराठवाड़ा सहित आस-पास के क्षेत्रों में पिछले एक पखवाड़े से लगातार हो रही बारिश का सिलसिला जारी है. बारिश का सिलसिला जारी रहने  से शहर को पेयजल आपूर्ति करनेवाला जायकवाडी बांध पानी से लबालब है. इसी दरमियान जायकवाडी बांध के वाटरशेड क्षेत्र के संगमनेर, श्रीरामपुर, नेवासा के अलावा औरंगाबाद जिले के कई परिसरों में मूसलाधार बारिश जारी है. जिससे बांध में पानी की आवक बड़े पैमाने पर जारी है. पानी की आवक लगातार जारी रहने से जायकवाडी बांध के 9 आपातकालीन दरवाजे एक फिट पर खोले गए है. वर्तमान में इन दरवाजों से गोदावरी पात्र में 94 हजार क्यूसेक से पानी छोडा जा रहा है.

नदी के किनारे बसे गांववासियों को सतर्क रहने की चेतावनी दी गई

लाभक्षेत्र विकास प्राधिकरण के अधीक्षक अभियंता राजेन्द्र काले ने बताया कि जायकवाडी बांध में पानी की जारी लगातार आवक से बांध के आपातकालीन दरवाजों को खोलने का निर्णय लिया गया है. इस निर्णय से गोदावरी नदी के किनारे बसे गांव वासियों को सतर्क रहने की चेतावनी दी गई है. काले ने बताया कि उपर के छोटे बांधों से बारिश जारी रहने से जायकवाडी बांध में बड़े पैमाने पर पानी की आवक जारी है. पानी की आवक अधिक होने से बांध के 9 आपातकालीन दरवाजे खोले गए है. 

 दूसरी बार खोले गए दरवाजे 

इधर, अधिक पानी की आवक जायकवाडी बांध में जारी रहने से उससे निर्माण होनेवाले गंभीर परिस्थिति पर बांध सहायक अभियंता संदीप राठोड, बुध्दभूषण दाभाडे, राजाराम गायकवाड, खराडकर, बीवी बोधने नजर रखें हुए है. इधर, शुक्रवार की देर रात प्रशासन ने जायकवाडी बांध के नार्मल 18 दरवाजे 4 फिट से उंचे खोले. यह दरवाजे खोलने से  75 हजार 456 क्यूसे पानी गोदावरी पात्र में छोडा जा रहा है. काले ने बताया कि आपातकालीन दरवाजे इस मौसम में दूसरी बार खोले गए है. वर्तमान में जायकवाडी बांध के कुल 27 दरवाजों से 94 हजार 172 क्यूसेक पानी जावक जारी है.